अपनाये ये घरेलू इलाज गले की खराश को दूर करने के लिए

मौसम में आने वाले जबरदस्त बदलाव और गलत खान पान जैसे-खट्टी-मीठी व मसालेदार चीजों का सेवन करने से गले में खराश या आवाज बैठ जाने की परेशानी बहुत आम सुनने को मिलती है। ऐसी स्थिति में गले में दर्द, खुजली और कफ आदि बहुत जम जाता है। कुछ लोगों को धूल मिट्टी से भी एलर्जी होती हैं जो गले में खराश, जुकाम और खांसी का एक कारण बनती हैं। गले में खराश भले ही मामूली सी बात हो लेकिन केयर ना करने पर यह काफी तकलीफदेह और नुकशानदयाक भी हो सकती हैं। इससे गले में सूजन और दर्द बहुत ज्यादा बढ़ सकता है, जिससे खाना-पीना भी कठिन हो जाता है। गला खराब होने पर डाक्टर की सलाह के साथ कुछ घरेलू टिप्स भी बहुत ज्यादा मददगार साबित हो सकते हैं।

– नमक वाले पानी से गरारे
गले में दर्द अथवा खराश के दौरान अगर आप गुनगुने पानी में नमक डालकर गरारे करेंगे तो अवश्य फायदा होगा। इससे आपके गले के भीतर सूजन तो कम होगी, मांसपेशियों को बहुत आराम भी मिलेगा ।

– मुलेठी
सोते समय एक ग्राम मुलहठी की छोटी सी गांठ मुंह में रखकर कुछ देर तक खूब चबाते रहे या फिर मुंह में रखकर सो जाए। अगर आप गांठ नहीं चबा पाते तो मुलेठी चूर्ण को पान के पत्ते में रखकर लें। इससे सुबह गले का दर्द और सूजन दोनों बहुत दूर होगी।

– कालीमिर्च और तुलसी
1 कप पानी में 4-5 काली मिर्च एवं तुलसी की थोड़ी सी पत्तियों को उबालकर उसका काढ़ा बना लें और इस काढ़े को अवश्य पीएं।

– सौंफ
गले में खराश हो रही हो तो सुबह-सुबह सौंफ चबाने से भी बंद गला ठीक से खुल जाता है।

– कच्चा सुहागा
आधा ग्राम कच्चा सुहागा मुंह में रखें और इसका रस खूब चुसते रहे। 2-3 घंटे में गला बिलकुल भी साफ हो जाएगा।

– मुनक्का
जिन लोगों का गला हमेसा जुकाम में एलर्जी के कारण खराब रहता हैं उन्हें सुबह-शाम 4 से 5 मुनक्के के दानों को चबाकर अवश्य खाना चाहिए लेकिन ध्यान रहें इसके ऊपर से पानी ना पीएं। इसके अलावा पर्याप्‍त आराम करने से आपको गले की सूजन, खराश और दर्द से भी बहुत ज्यादा राहत मिलती है।

यह भी पढ़ें –

डाइट में शामिल करें ये चीजें ब्लड प्रैशर प्रॉब्लम से बचने के लिए