जोड़ों के दर्द से बचने के लिए अपनाये ये उपाय

आजकल की इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में पैरों में दर्द होना एक आम बात हैं लेकिन इस दर्द को अनदेखी करने से ये आगे जाकर बहुत ही बड़ा दुखदाय हो सकता हैं अगर आपके पैरों का दर्द अब जोड़ों का दर्द बन चुका हैं और ये बहुत ज्यादा पुराना नहीं हैं तो आप जोड़ो के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं जोड़ों की बीमारियों से दर्द और चलने-फिरने में बहुत परेशानी आती हैं इनमें से कुछ समस्याओं के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती हैं। जोडों के दर्द से बचने के लिए आप इन उपायों को अपना सकते है।

मसाज थैरेपी- मसाज थैरेपी जोड़ों के दर्द के लिए एक बहुत ही आसान उपाय है। इससे जोड़ों के दर्द में बहुत जल्द राहत मिलती है। मसाज थैरेपी के जरिए रक्त संचार शरीर में ठीक होता हैं और जोड़ों का सूजन बहुत कम हो जाता है। आप इसे घर पर किसी फिजियो-थैरेपिस्ट की मदद से कर सकते है। फिजियो-थैरेपिस्ट से इसे सीखने के बाद आप इसे घर पर भी कर सकते है। सरसो, जैतून और नारियल तेल के मसाज से जोड़ों के दर्द में बहुत ही आराम मिलता है।

आइस थैरेफी- जोड़ों के दर्द में निजात के लिए बर्फ थैरेपी से भी राहत मिलती हैं 15 से 20 मिनट तक की एक दिन में कुछ बार यह थैरेपी जोड़ों के दर्द में काफी राहत देती हैं यह जोड़ों के दर्द को कम करने के साथ सूजन भी कम करने में मददगार होती है।

हीट थैरेपी- प्रभावित जोड़ों के दर्द पर तीन मिनट की हीट थैरेपी बहुत ही असरदार होती हैं हीट थैरेपी से सूजन बहुत जल्द कम होता हैं और जोड़ों के दर्द में राहत मिलती हैं हीट थैरेपी किसी हॉट बैग या तौलियां के जरिए ही लिया जाना चाहिए। डायरेक्ट हीट थैरेपी से नुकसान हो सकता है।

दवाईयां- जोड़ों के दर्द के उपचार के लिए आप डॉक्टर की सलाह लेकर कुछ दवाइयों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

आराम- जोड़ों में दर्द होने की स्थिति में आराम करने से भी इससे मुक्ति मिल सकती है। आराम करने से हमारे जोड़ों और मांसपेशियों को आराम मिलता है लिहाजा दर्द जल्द ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ें:-

जानिए, सरसों के तेल के 6 बड़े फायदे