गर्भ में पल रहे बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए अपनाये ये टिप्स

अक्सर बच्चों में कई तरह के जन्मजात दोष हमारे द्वारा देखें जाते हैं। अब डॉक्टर्स ने इसका एक पुख्ता इलाज भी निकाल लिया है। जी हां, गर्भ में ही बच्चे को हर तरह के जन्मजात दोष से मुक्त करवाया जा सकता है और इसके लिए फीटल थेरेपी बेहद ही कारगर हो रही है।

आपको बता दे कि फीटल थेरेपी गर्भवती मां, और उसकी कोख में पल रहे शिशु की देखभाल में बहुत ही ज्यादा कारगर है, और जन्मजात दोषों वाले बच्चों की बढ़ती संख्या के कारण प्रीनेटल सर्जरी एक बहुत बड़ी विकल्प बनती जा रही है। इसी के सथ “आज फीटल थेरेपी को मां और अजन्मे बच्चे दोनों की विशेष देखभाल के लिए बेहद ही प्रभावी माना जाता है। साथ ही जन्मजात दोषों वाले शिशुओं की बढ़ रही संख्या के कारण ऐसे बच्चों के इलाज के लिए प्रीनेटल सर्जरी एक वेहतर विकल्प बनती जा रही है।

इसी के साथ गर्भधारण के 12वें सप्ताह में ही गर्भ में हो रही दिक्कतों का पता लगाया जा सकता है।

देखा जाए तो फीटल थेरेपी से जहां डॉक्टर सबसे ज्यादा खुश है वहीं गर्भवती महिलाओं को इस बात की संतुष्टि है कि अब उनके होने वाले बच्चे की दिक्कत का पता गर्भ में लगाया जा सकता है और समय रहते ही उसका इलाज ठीक से करवाया जा सकता है।

Loading...