मोटापे को दूर करने के लिए अपनाये ये नुस्खे

एक पाद वृतासन मोटापे को बहुत कम करने में बड़ा सहायक है। इससे जंघा, नितम्ब, पेट व कमर की मांशपेशियों पर बहुत ही सीधा प्रभाव पड़ता है, जिससे इन अंगों पर चढ़ी अनावश्यक चर्बी दूर होने लगती है। शरीर को सुडौल बनाने में मदद करता है, पैरों में दर्द, थकान, कमजोरी व वैरिकोज वेन्स से जुड़ी शिकायत को दूर करने वाला है। हृदय व फेफड़ों को भी इस आसन से बहुत ही बल मिलता है।

आसन विधि : कमर के बल सीधे लेट जाएं, दोनों पैर आपस में मिले हुए व हथेलियों को जंघाओं के नीचे ज़मीन पर रख लें। धीरे से बाएं पैर को ऊपर की तरफ उठाएं व पैर को अधिक से अधिक गोलाकार चक्र में घुमाएं अर्थात पैर से बड़े से बड़ा वृत्त बनाने का प्रयास करें। लगातार 8-10 बार या यथाशक्ति इस प्रक्रिया को करने के बाद बिना आराम किए उसी पैर से उल्टी दिशा की ओर से भी गोलाकार 8-10 बार घुमाकर आराम करें।
इसी प्रकार दाएं पैर से भी उतनी ही बार इस प्रक्रिया को करें, जितना बाएं पैर से किया था, फिर पैर को उल्टी दिशा की ओर भी घुमाएं। पैर घुमाने के बाद पैर को नीचे ले आएं और आराम करें। दोनों पैरों से तीन-तीन बार इसका अभ्यास कर लें।

सावधानियां – हाई ब्लॅड प्रेशर, ऑस्टियोपोरोसिस, कमर दर्द, स्लिप डिस्क तथा साईटिका दर्द में इसका अभ्यास न करें।

Loading...