अपनाएं ये टिप्स आप भी खरीदना चाहते हैं पका-मीठा तरबूज

गर्मी का मौसम दस्तक दे चुका है। साथ ही सूरज ने भी अपने तेवर तल्ख कर दिये हैं। ऐसे में अब बाजार में गर्मी के सभी फल मिलने लगे हैं जैसे तरबूज, खरबूजा खीरा, ककड़ी, आम आदि। जिनका हमें बेसब्री से इंतजार रहता है। ये फल गर्मी में शरीर को ठंडक और डिहाइड्रेशन से बचाते हैं।

मीठा तरबूज पहचानने के टिप्स

अकसर जब आप खरबूजा या तरबूज लेने मार्केट जाते हैं तो आपको ये अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता होगा कि ये फल अंदर से मीठा होगा या नहीं। क्योंकि बाजार में मिलने वाले सभी तरबूज पके हुए और मीठे हों, इसकी कोई गारंटी नहीं होती है। अगर आप तरबूज खरीदने के बाद पछताना नहीं चाहते हैं तो, हम आपको कुछ टिप्स दे रहे हैं जिनसे आपको एक बढ़िया तरबूज खरीदने में मदद मिल सकती है।

पीले रंग का धब्बा

सबसे पहले आप ध्‍यान दें कि आप जो तरबूज खरीद रहे है उसपर पीले रंग का धब्‍बा है या नहीं अगर ये पीला रंग थोड़ा गहरा है तो आप समझ जाएं कि ये अंदर से काफी मीठा होगा। लेकिन वहीं इसका रंग हल्‍का फीका है तो मतलब है कि ये तरबूज अंदर से मीठा नहीं है।

धारियां

तरबूज पर धारियां होना यह दर्शाता है कि इसे कितनी मधुमक्खियों ने टच किया है। इसका मतलब यह हुआ कि जिस तरबूज पर जितनी धारियां होंगी, वो उतना ही मीठा होगा।

बॉय एंड गर्ल

तरबूज के भी जेंडर होते हैं। ‘बॉय’ वाला तरबूज ज्यादा लंबा होता है और ‘गर्ल’ तरबूज गोल होता है। जाहिर है गर्ल तरबूज अधिक मीठा होता है।

साइज

तरबूज की पूंछ दर्शाती है कि वो कितना पका है। हरी पूंछ का मतलब कि तरबूज जल्दी पकने वाला है। सूखी पूंछ का मतलब है कि वो पूरी तरह से पाक गया है।

आवाज

तरबूज को उंगलियों से ठोककर देखें अगर वो अंदर से आवाज तेज आता है तो तरबूज पका हुआ और मीठा है लेकिन वहीं अगर आवाज धीमें आती है तो इसका मतलब है कि तरबूज पका हुआ और मीठा नही है।

यह भी पढ़ें-

इन 4 लोगों को सबसे ज्यादा काटते हैं मच्छर, जानिए