नाॅनस्टिक बर्तन में बनाते हैं खाना, तो यह खबर आप सभी लिए ही है

माॅडर्न किचन में कई तरह के बर्तनों ने जगह ली है। इनमें प्लास्टिक के बर्तनों से लेकर नाॅनस्टिक शामिल है। वैसे तो प्लास्टिक के बर्तन से स्वास्थ्य को होने वाले नुकसान से तो हर कोई परिचित है, पर नाॅनस्टिक बर्तनों में खाना पकाने पर होने वाले हानिकारक प्रभाव के बारे में लोग नहीं जानते। तो चलिए आज हम आपको नाॅनस्टिक बर्तनों के उपयोग और उससे होने वाले कुछ गंभीर नुकसान के बारे में बता रहे हैं-

  • नॉनस्टिक बर्तनों की कोटिंग में पॉलीटेट्राफ्लूरोएथिलिन का इस्तेमाल होता है। जिसके कारण इन बर्तनों में कम तेल या घी इस्तेमाल करने पर भी खाना चिपकता नहीं है और इन्हें साफ करना आसान होता है। लेकिन यह तत्व स्वास्थ्य के लिए बेहद घातक होता है।
  • अगर आप नॉनस्टिक बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो ध्यान रखें कि स्क्रैच पड़ने के बाद उनका इस्तेमाल बिल्कुल न करें। क्योंकि स्क्रैच से आतंरिक परत में मौजूद टेफ्लॉन खाने के जरिए हमारे शरीर तक पहुंच जाता है। ये स्लो पॉइजन की तरह काम करता है।
  • वहीं अगर आप नाॅनस्टिक में खाना पका रहे हैं तो हमेशा कम तापमान पर खाना पकाएं और कभी भी नॉनस्टिक पैन्स को पहले से गर्म न करें।
  • इस बात का भी ख्याल रखें कि नॉनस्टिक बर्तनों में तलने-भुनने का काम न करें और न ही नाॅनस्टिक बर्तनों को रगड़ें।

यह भी पढ़ें:

एल्युमिनियम फॉयल में पैक खाना बनता है इन गंभीर बीमारियों का कारण!

कमर दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे