पूर्व हॉकी कप्तान बलबीर सिंह सीनियर का 96 की उम्र में निधन, एक नजर उनकी उपलब्धियों पर

भारतीय हॉकी टीम के पूर्व कप्तान और तीन बार ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट बलबीर सिंह सीनियर का आज सुबह 96 वर्ष की उम्र में निधन हो गया। सोमवार सुबह 6 बजकर 17 मिनट पर उन्होंने मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में अंतिम सांस ली। उन्हें गत 8 मई को तबीयत बिगड़ने की वजह से अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। इस दौरान वह वेंटिलेटर पर रहे और उन्हें तीन बार हार्ट अटैक आया। लगातार तबियत खराब होने की वजह से उनका देहांत हो गया।

बलबीर सिंह सीनियर सेक्टर 36 चंडीगढ़ में अपनी बेटी सुखबीर कौर और नाती कबीर के साथ ही रहते थे। इसके अलावा उनके तीन बेटे है जो कनाडा में रहते है। बलबीर लंबे समय से बीमार चल रहे थे और पिछले साल वह पीजीआई में भी भर्ती रहे थे। उस समय तो वह अस्पताल से जिंदगी की लड़ाई जीत कर वापस घर लौटने में सफल हो गए लेकिन इस बार वह ऐसा करने में नाकाम रहे और दुनिया को हमेशा-हमेशा के लिए अलविदा कह गए।

लंदन ओलंपिक 1948, हेलसिंकी ओलंपिक 1952 और मेलबर्न ओलंपिक 1956 में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे बलबीर सिंह सीनियर को सन 1956 में भारतीय हॉकी टीम का कप्तान नियुक्त किया गया था। यही नहीं वह वर्ल्ड कप 1971 में ब्रॉन्ज और वर्ल्ड कप 1975 में गोल्ड जीतने वाली भारतीय हॉकी टीम के मुख्य कोच भी रहे। उनका निधन भारतीय हॉकी जगत के लिए बड़ी क्षति है जिसे आने वाले समय में भरा जाना आसान नहीं होगा।

यह भी पढ़े: वजन कंट्रोल करने और सेहत बेहतर बनाने में मददगार होता है इन 5 तरह के जूस का सेवन
यह भी पढ़े: डायबिटीज और ब्लड शुगर के मरीजों के लिए फायदेमंद है आंवले की चाय, जानिये इसके और भी फायदे

Loading...