नगालैंड के पूर्व राज्यपाल अश्वनी कुमार ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट हुआ बरामद

नगालैंड के पूर्व राज्यपाल व पूर्व सीबीआई निदेशक अश्वनी कुमार ने शिमला स्थित अपने निवास पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली हैं। पुलिस को उनका शव लटका हुआ बरामद हुआ हैं। उनके आत्महत्या करने के पीछे की वजह अभी सामने नहीं आई हैं। पुलिस ने घटनास्थल का मुआयना किया और अब वह पूरे मामले की जांच में जुट गई हैं। पुलिस को घटनास्थल से सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है, जिसमें अश्वनी कुमार ने जिंदगी से परेशान होना लिखा हैं।

उन्होंने लिखा है कि ‘मैं जिंदगी से तंग आकर अगली यात्रा पर निकल रहा हूं।’ अश्वनी कुमार की खुदकुशी से हर कोई स्तब्ध है। सिरमौर के जिला मुख्यालय नाहन में जन्मे 70 वर्षीय अश्वनी कुमार आईपीएस अधिकारी थे और सीबीआई व एसपीजी में विभिन्न पदों पर भी रहे। अगस्त 2008 से नवंबर 2010 के बीच वह सीबीआई के निदेशक पद पर रहे। अश्वनी कुमार सीबीआई के पहले ऐसे प्रमुख थे जिन्हें बाद में राज्यपाल के पद पर नियुक्त किया गया।

मार्च 2013 में अश्वनी कुमार को नगालैंड का राज्यपाल नियुक्त किया गया था। वर्ष 2014 में उन्होंने अपने पद से त्यागपत्र दे दिया था। इसके बाद वह शिमला में एक निजी विश्वविद्यालय के वीसी पद पर भी रहे। पूर्व डीजीपी आईडी भंडारी ने अश्वनी कुमार को अपना रोल मॉडल करार दिया।

यह भी पढ़े: तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को लिखा पत्र, RJD नेता की हत्या की CBI जांच कराने का किया अनुरोध
यह भी पढ़े: BJP ने LJP चेताया, NDA के अलावा कोई नहीं करेगा PM की तस्वीर का इस्तेमाल

Loading...