नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी के सलाहकार बोर्ड में शामिल हुए

नई दिल्ली नवंबर 22, 2022: मशहूर अर्थशास्त्री और नीति आयोग के पूर्व उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार प्रमुख लक्ज़री प्रॉपर्टी कंसल्टेंट फर्म इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी (आईएसआईआर) के नीति और सलाहकार बोर्ड में शामिल होंगे, इसकी औपचारिक घोषणा कंपनी ने मंगलवार को की । डॉ कुमार रियल एस्टेट सेक्टर में पारदर्शिता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से आईएसआईआर को नीतिगत और पैरोकार संबंधी मामलों पर सलाह देंगे।

इस बारे में जानकारी देते हुए इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी के सीईओ श्री अमित गोयल ने बताया कि डॉ. कुमार को सरकार, शिक्षा जगत, सीआईआई और फिक्की जैसे उद्योग संघों और बहुपक्षीय वित्तीय संस्थानों (ऐडीबी, मनीला) में काम करने का व्यापक अनुभव है और वे रियल एस्टेट में आने वाले नए अवसरों का मूल्यांकन के साथ-साथ विकास के अवसरों पर इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी का मार्गदर्शन भी करेंगे ।

सेंट स्टीफन कॉलेज और लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र, डॉ. कुमार ने की डिग्री डी. लिट की डिग्री अपने मातृ संस्थान, लखनऊ विश्वविद्यालय और उच्च शिक्षा के अन्य संस्थानों से प्राप्त की है। उन्होंने ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से 1982 में अर्थशास्त्र में डी.फील, और लखनऊ विश्वविद्यालय से 1978 में पीएच.डी. किया।

अमित गोयल ने कहा,”डॉ राजीव कुमार को आईएसआईआर के सलाहकार बोर्ड में शामिल होने से हमें ख़ुशी है। वह देश के सबसे अनुभवी अर्थशास्त्रियों में से एक हैं, जिनके पास सरकार के उच्च स्तर पर औधौगिक नीति बनाने के साथ एक व्यापक अनुभव भी है। हमें यकीन है कि डॉ कुमार की सलाह से आईएसआईआर एक नई ऊंचाइयों को प्राप्त करेगा”।
उन्होंने बताया कि आईएसआईआर कई महत्वपूर्ण विषयों जैसे की सर्कल रेट में बदलाव की जरुरत, ग्राहकों के हित में रेरा में बदलाव तथा रियल एस्टेट की लेनदेन पर स्टांप शुल्क को तर्कसंगत बनाने की दिशा में लगातार कार्य कर रहा है ।

डॉ. राजीव कुमार ने कहा कि इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी रियल एस्टेट एडवाइजरी और ट्रांजैक्शन सेगमेंट में एक प्रमुख संगठन है। हम सभी जानते हैं कि देश के आर्थिक विकास में रियल्टी सेक्टर का बहुत बड़ा योगदान है। रियल एस्टेट सेक्टर पारदर्शिता और प्रोफेशनलिज्म इस सेक्टर के स्वस्थ विकास की कुंजी है और यहीं आईएसआईआर का मूल मंत्र भी हैं। इसलिए, मुझे खुशी है कि मैं एक उज्जवल भविष्य वाले संगठन के सलाहकार बोर्ड में शामिल हो रहा हूँ, जिसने पिछले कुछ वर्षों में लक्जरी रियल एस्टेट में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

डॉ. कुमार पहले इंडिया फाउंडेशन (पीआईएफ) दिल्ली के संस्थापक निदेशक और वर्तमान अध्यक्ष हैं, जो एक नॉन-प्रॉफिट नीति बनाने वाली एक संस्था है और साथ ही गोखले इंस्टीट्यूट ऑफ इकोनॉमिक्स एंड पॉलिटिक्स, पुणे के चांसलर भी हैं।

पूर्व में डॉ. कुमार भारतीय रिजर्व बैंक के केंद्रीय बोर्ड और भारतीय स्टेट बैंक के केंद्रीय बोर्ड में भारत सरकार के नामांकित डाइरेक्टर के रूप में सेवा की है। वह राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार बोर्ड (2006-2008) के पार्ट टाइम सदस्य; और पार्ट टाइम सदस्य, अर्थशास्त्र, टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी इंडिया (टीआरऐआई) (2007-2010) भी थे।
वह वित्त मंत्रालय के आर्थिक मामलों के विभाग के आर्थिक सलाहकार (1992 से 1995) भी थे। उन्होंने एशियाई विकास बैंक, मनीला में दस वर्षों (1995-2004) तक काम भी किया है। डॉ कुमार लगभग एक दर्जन पुस्तकों के लेखक और जाने-माने आर्थिक स्तंभकार हैं।

इंडिया सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी के बारे में,

सोथबीज ऑक्शन हाउस जैसे गौरवशाली संस्था से उपजे सोथबीज इंटरनेशनल रियल्टी (एसआईआर) अपने गुणवत्तापूर्ण सेवा और अतुल्य विशेषज्ञता के साथ एक प्रतिष्ठित वैश्विक ब्रांड है। एसआईआर का नेटवर्क 79 देशों और क्षेत्रों में 1,000 ऑफिसेस और 25,000 सेल्स एसोसिएट्स के साथ फैला हुआ है और इसने वर्ष 2021 में $204 बिलियन की रियल एस्टेट वैश्विक बिक्री में रिकॉर्ड हासिल किया है।

आईएसआईआर ने जुलाई 2014 में नई दिल्ली में अपना पहला कार्यालय स्थापित करके भारत में अपनी सेवा की शुरुआत की । अब इसके कार्यालय दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बैंगलोर, गोवा, कोलंबो और मालदीव में कार्यरत हैं। भारत की टीम में सीनियर प्राइवेट बैंकर्स और रियल एस्टेट, हॉस्पिटैलिटी और लक्ज़री गुड्स उद्योगों के विशेषज्ञ शामिल हैं, जो भारत और विदेशों के विभिन्न हिस्सों में रह कर काम कर चुके हैं, और जिनके पास समृद्ध और विशिष्ट ग्राहकों का विश्वास जीतने वाला अनुभव है।

– एजेंसी