Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / कश्मीर पर केंद्र को मिला राहुल गांधी का साथ, ट्वीट कर बोले- ये हमारा आंतरिक मामला

कश्मीर पर केंद्र को मिला राहुल गांधी का साथ, ट्वीट कर बोले- ये हमारा आंतरिक मामला

कश्मीर के हर मुद्दे पर केंद्र की मोदी सरकार को घेरने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के इस बार सुर ही बदल गए है। पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर मसले पर मोदी सरकार का समर्थन किया है। राहुल ने ट्वीट कर कहा कहा कि कश्मीर भारत का आंतरिक मसला है और पाकिस्तान या फिर किसी अन्य देश को इस मामले में हस्तक्षेप करने नहीं दिया जाएगा।

Loading...

वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने कहा कि वह कई मसलों पर सरकार से असहमत रहते हैं, लेकिन वो यह साफ कर देना चाहते हैं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और इसमें पाकिस्तान या फिर किसी अन्य देश को हस्तक्षेप करने नहीं दिया जाएगा।

कश्मीर में हिंसा के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराते हुए राहुल गांधी ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा कि ‘जम्मू-कश्मीर में जो भी हिंसा हो रही है वह इसलिए हो रही है क्योंकि पाकिस्तान की ओर से इसे भड़काया और समर्थन किया जा रहा है, जिसकी पहचान दुनियाभर में आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देश की रही है।

जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद बौखलाया पाकिस्तान कश्मीर मसले को वैश्विक स्तर पर उठाने की कोशिश कर रहा है। हालाँकि पाकिस्तान को उसके प्रयासों में कोई खास कामयाबी नहीं मिल पा रही है। पाकिस्तान लगातार वहां के मानवाधिकारों को लेकर सवाल उठा रहा है और कई देशों से अपील कर रहा है कि वह कश्मीर मसले पर भारत सरकार के फैसले की निंदा करे। लेकिन विश्व के सभी देश पाकिस्तान की कश्मीर को लेकर की गयी अपील पर किसी भी तरह की टिपण्णी या समर्थन करने से इंकार कर चुके हैं। हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की मुलाकात जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हुई तो अमेरिका ने भी हस्तक्षेप करने से इंकार कर दिया है और कहा की कश्मीर भारत और पाकिस्तान का आतंरिक मामला है जिसे दोनों देश खुद से सुलझा सकते हैं और किसी और देश को इसमें दखल दने की ज़रुरत नहीं है। पीएम मोदी ने साफ शब्दों में कह दिया कि कश्मीर पर किसी भी देश को शामिल होने या मादयस्ता करने की ज़रुरत नहीं है दोनों देश इसमें सक्षम हैं।

इससे पहले रविवार को राहुल गांधी ने श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोके जाने का एक वीडियो ट्वीट किया था, जिसमें वह यह कहते दिखे कि उन्हें राज्यपाल ने आमंत्रित किया था। लेकिन उन्हें बाहर जाने की इजाजत नहीं दी गई। उन्होंने आगे कहा कि, ‘सरकार कह रही है कि प्रदेश में सब कुछ ठीक है फिर उन्हें क्यो रोका जा रहा है। अगर धारा 144 लगी है तो वह अकेले भी जाने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वो कश्मीर के लोगों का हालचाल लेना चाहते थे लेकिन उन्हें एयरपोर्ट से ही बाहर जाने की अनुमति नहीं दी गई। इन सब बातों से साफ है कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य नहीं है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *