जयपुर में एक परिवार के चार लोगों ने लगाई फांसी, कर्ज के बोझ से परेशान थे सब

राजस्थान की राजधानी जयपुर के कानौता थाना क्षेत्र में सामूहिक आत्महत्या का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि परिवार कर्ज के बोझ तले दबा था और रोज-रोज कर्ज के पैसे मांगे जाने से भी काफी परेशान था। मृतक परिवार ज्वैलरी का कारोबार किया करता था। जानकारी के मुताबिक कल दिन में व्यापारी के घर पर एक महिला आई थी, जो ज्वैलर परिवार से पैसे मांग रही थी। लेकिन जब उसे पैसे नहीं मिले तो वह परिवार को बेइज्जत करके गई थी।

जयपुर के इतिहास में यह पहली ऐसी घटना है, जब एक ही परिवार के चार लोगों ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है पैसे मांगने आई महिला से ज्वेलर ने कहा था कि ‘वे दुकान और घर बेचने के बाद उसके पैसे लौटा देंगे।’ लेकिन शुक्रवार रात ही परिवार ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

परिवार के चार सदस्य में से तीन ने हॉल में जबकि चौथे ने कमरे में पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। फंदे पर लटके दो लोगों के पैर भी बंधे हैं। पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच कर मामले की कार्यवाही में जुट गए है। एफएसएल टीम को भी बुलाया गया है। मौके से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।

जयपुर पूर्व के एडिशनल डीसीपी मनोज चौधरी के मुताबिक प्राथमिक जांच में पता चला है कि परिवार अलवर का रहने वाला था। लेकिन पांच साल से जयपुर में सर्राफा का काम कर रहा था। मरने वालों में परिवार के मुखिया 45 वर्षीय सदासव देसाई, 41 वर्षीय उनकी पत्नी और 20 तथा 23 वर्ष के दो पुत्र शामिल हैं।

यह भी पढ़े: J&K: राजोरी में सुरक्षाबलों ने ढ़ेर किये तीन आतंकी, गोला-बारूद और नकदी बरामद
यह भी पढ़े: बिहार में JDU विधायक की कार पर बदमाशों ने किया हमला, चार आरोपी गिरफ्तार