डायबिटीज से लेकर हाई BP तक, इन बीमारियों के लिए रामबाण है अजवाइन, जानिए कैसे करें डाइट में शामिल

डायबिटीज़ एक तरह से चयापचय (मेटाबॉलिक) में ख़राबी की अवस्था है। वहीं हाई ब्लड प्रेशर दिल संबंधी बीमारियों का कारण बन सकता है और उसकी वजह से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। ऐसे में दवाइयों के साथ-साथ घरेलू उपायों का इस्तेमाल भी बेहद फायदेमंद होता है। अजवाइन का सेवन करना ना सिर्फ डायबिटीज और हाई बीपी के मरीजों के लिए फायदेमंद है, बल्कि यह और भी कई बीमारियों को दूर करने में मदद करता है। अजवाइन में विटामिन्स, मिनरल्स, एंटीऑक्सीडेंट के अलावा और भी बहुत से पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखते हैं। आइए जानते हैं अजवाइन के फायदे-

अजवाइन के फायदे: एसिडिटी के परेशानी से राहत पाने के लिए अजवाइन बेहद फायदेमंद होता है। अजवाइन वजन घटाने में भी काफी मददगार है। अजवाइन का पानी पीने से शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है, जिससे चर्बी घटने लगती है। इसके अलावा अगर आपकी खांसी ठीक नहीं हो रही है तो अजवाइन का पानी बहुत फायदा करेगा। इतना ही नहीं अजवाइन से गठिया के रोग में भी आराम मिलता है। बढ़ते कोलेस्ट्रॉल की समस्या से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन का उपयोग किया जा सकता है। अजवाइन का नियमित उपयोग सांस की तकलीफों को दूर रखने में कारगर साबित हो सकता है।

इम्युनिटी मजबूत करने में कारगर: बुजुर्ग लोगों में तथा बीमारों में इम्युनिटी कम हो जाती है। ऐसे में अजवाइन का सेवन करना बेहद फायदेमंद होता है। अजवाइन में कैल्शियम, आयरन, सोडियम और एंटीऑक्सीडेंट उच्च मात्रा में मौजूद होता है जो इम्युनिटी को मजबूत करने में मदद करता है। इसके अलावा अजवाइन शरीर को इंफेक्शन से बचाने में भी मदद करता है।

अजवाइन को कब करें डाइट में शामिल: अजवाइन को आप रोजाना सुबह हल्के गुनगुने पानी के साथ खा सकते हैं। इसके अलावा काढ़ा बनाने के लिए भी आप अजवाइन का इस्तेमाल कर सकते हैं। अजवाइन को आप अपने खाने के साथ भी मिलाकर खा सकते हैं। इतना ही नहीं अजवाइन को पानी मिलाकर एक बंद ढक्कन वाले वर्तन में उबाल लें। इससे बनी भाप को रोज सुबह-शाम लें। यदि संभव हो तो तुलसी के पत्तों को भी उबालते समय डाल दें।

यह भी पढ़े-

हाई बीपी के मरीज पपीता खाने से बचें, इन फूड आइटम्स के सेवन से भी करना चाहिए परहेज