अदरक से लेकर अजवाइन तक, बढ़े यूरिक एसिड को कम करने में ये घरेलू नुस्खे हैं कारगर

शरीर में मौजूद यूरिक एसिड ज्यादातर समय, यूरिन के जरिये बाहर निकल जाता है। लेकिन कुछ स्थिति में जब ये नहीं निकल पाता है तो शरीर में यूरिक एसिड की अधिकता से लोगों को कई सेहत संबंधी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। आज के समय में लापरवाह जीवन शैली के कारण कम उम्र में भी कई लोग इस बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। शरीर में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने के कारण गठिया रोग, जोड़ों में दर्द, गाउट और सूजन जैसी गंभीर परेशानियां हो सकती हैं।

वहीं, यूरिक एसिड की अधिकता होने पर किडनी भी सुचारू रूप से फिल्टर करने में सक्षम नहीं रह जाती है। ऐसे में टॉक्सिक मेटीरियल्स शरीर में ही रह जाते हैं। ऐसे में लोग इन परेशानियों से बचने के लिए अपनी डाइट में इन चीजों को जरूर शामिल करें।

अजवाइन: अजवाइन में कई ऐसे गुण मौजूद होते हैं जो यूरिक एसिड की अधिकता को नियंत्रित रखते हैं। इसमें एंटी-इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं जो इस बीमारी के कारण होने वाली सूजन को कम करने में मददगार है। गठिया बीमारी के मरीजों के लिए भी इसका सेवन लाभदायक होता है। जोड़ों के दर्द और अन्य परेशानियां जो यूरिक एसिड बढ़ने पर हो जाती हैं उन्हें कम करने में भी अजवायन मदद करता है।

कैसे करें सेवन: आमतौर पर डॉक्टर्स भी ये सलाह देते हैं कि यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए पेय पदार्थों का अधिक से अधिक सेवन करना चाहिए। ऐसे में अजवाइन पानी भी मरीजों के लिए फायदेमंद है। अजवाइन को एक गिलास पानी में भिगो दें और रात भर रहने दें। सुबह उठकर खाली पेट इस पानी का सेवन करें। नियमित रूप से इसे पीने से यूरिक एसिड का स्तर नियंत्रित रहता है।

अदरक: अदरक में मौजूद तत्व गठिया के कारण हो रही सूजन और दर्द से राहत दिलाने में मददगार है। इसमें एंटी-इंफ्लामेट्री और एंटी-ऑक्सीडेंट्स प्रॉपर्टीज होते हैं जो यूरिक एसिड को काबू में रखने में असरदार माना जाता है। अदरक को आप काढ़ा, ड्रिंक और चाय के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही, सूजन और दर्द से प्रभावित हिस्सों में अदरक के तेल से मालिश करने पर भी मरीजों का आराम मिलेगा।

लहसुन: शरीर में यूरिक एसिड को कंट्रोल करना है तो डाइट में लहसुन जरूर शामिल करें। यूरिक एसिड को काबू में रखने के लिए इसे सबसे कारगर उपाय माना जाता है। नियमित रूप से लहसुन की एक – दो कलियां रोज खाने से इसके स्तर के साथ ही इस एसिड के कारण होने वाली बीमारियों पर भी नियंत्रण पाया जा सकता है।

यह भी पढ़े-

Nisha Rawal ने बेटे के बर्थडे के 3 दिन बाद दी ग्रैंड पार्टी, तनाज ईरानी भी बनी मेहमान