मजेदार जोक्स:गुरुजी गुस्सा हो गये फिर पुछा

संस्कृत की क्लास मे गुरुजी ने पूछा: पप्पू इस श्लोक का अर्थ बताओ. “कर्मण्येवाधिकारस्ते मा फलेषु कदाचन”.
.
पप्पू: राधिका शायद रस्ते मे फल बेचने का काम कर रही है.
.
गुरुजी: मुर्ख, ये अर्थ नही होता है. चल इसका अर्थ बता:-
“बहुनि मे व्यतीतानि, जन्मानि तव चार्जुन.”
.
पप्पू: मेरी बहू के कई बच्चे पैदा हो चुके हैं, सभी का जन्म चार जून को हुआ है.
.
गुरुजी गुस्सा हो गये फिर पुछा :-
“तमसो मा ज्योतिर्गमय”
पप्पू= तुम सो जाओ मां मैं ज्योति से मिलने जाता हूं.
.
गुरुजी: अरे गधे, संस्कृत पढ़ता है कि घास चरता है. अब इसका अर्थ बता:-
“दक्षिणे लक्ष्मणोयस्य वामे तू जनकात्मजा.”
.
पप्पू: दक्षिण मे खडे होकर लक्ष्मण बोला जनक आजकल तो तू बहुत मजे मे है.
.
गुरुजी: अरे पागल, तुझे १ भी श्लोक का अर्थ नहीं मालूम है क्या ?
पप्पू: मालूम है ना.
.
गुरुजी: तो आखरी बार पूछता हूं, इस श्लोक का सही सही अर्थ बताना-
हे पार्थ त्वया चापि मम चापि…….!
.
क्या अर्थ है जल्दी से बता.
पप्पू: महाभारत के युद्ध मे श्रीकृष्ण भगवान अर्जुन से कह रहे हैं कि……..
.
गुरुजी उत्साहित होकर बीच में ही
.
कहते हैं- हां, शाबास, बता क्या कहा श्रीकृष्ण ने अर्जुन से……..?
.
पप्पू:
भगवान बोले, अर्जुन तू भी चाय पी ले, मैं भी चाय पी लेता हूं, फिर युद्ध करेंगे।
गुरूजी बेहोश…………..

😝😜

टीचर – पप्पू  यमुना नदी कहां बहती है ?

पप्पू– जमीन पर

टीचर – नक्शे में बताओ कहां बहती है ?

पप्पू – नक्शे में कैसे बह सकती है, नक्शा गल नहीं जाएगा…

**************************************************

चिंटू: दादी नींद नहीं आ रही है | टीवी देख लूँ….???

दादी: मुझसे बातें कर ले..

चिंटू: दादी क्या हम हमेशा 6 ही रहेगें..?
आप, मम्मी, पापा, दीदी, मैं और मेरी बिल्ली.

दादी : नहीं बेटा, आप के लिये कल डॉगी भी आ रहा है |
तो 7 हो जायेंगे |

चिंटू : पर…दादी डॉगी तो बिल्ली को खा जायेगा,
तो फिर 6 हो जायेंगे !!!!

दादी : नहीं बेटा, आपकी शादी हो जायेगी तो फिर 7 हो जायेंगे |

चिंटू : फिर बहन चली जायेगी शादी करके तो फिर 6 हो जायेंगे !!

दादी : बेटा.. फिर आपका बेटा.. हो जायेगा तो फिर 7 हो जायेंगे..|

चिंटू : तब तक आप मर जाओगी वापस से 6 हो जायेंगे…!!!

दादी : कुत्ते….!!! जा टीवी देख !!!

😝😜

टीचर ने छात्रों से पुछा।

टीचर: एक बात बताओ, तुम पढाई में ध्यान क्यों नहीं देते?

एक छात्र: क्योंकि पढाई सिर्फ दो वजहों से की जाती है।
1st डर से
2nd शौक से
और,
फालतू के शौक हम रखते नहीं और
डरते तो किसी के बाप से नहीं।

**************************************************

यह भी पढे:-

मजेदार जोक्स:पति-पत्नी की मजेदार तकरार