थायराइड के मरीजों के लिए फायदेमंद है लहसुन, जानिये कैसे करें डाइट में शामिल

थायराइड एक ऐसी स्थिति है, जिसमें थायराइड ग्रंथि पर्याप्त मात्रा में हार्मोन का निर्माण नहीं कर पाता है। इसकी वजह से व्यक्ति की शारीरिक क्षमता काफी कम हो जाती है। महिलाएं सबसे ज्यादा थायराइड की बीमारी की चपेट में आती हैं। थायराइड के कारण सांस, ह्रदय गति, पाचन तंत्र और शरीर के तापमान पर सीधा असर करती है। ऐसे में अपनी डाइट का ध्यान रखने की जरूरत होती है। रोजाना लहसुन खाना थायराइड के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसमें मौजूद तत्व थायराइड को कंट्रोल करते हैं। आइये जानते हैं लहसुन थायराइड के मरीजों के लिए कैसे फायदेमंद होता है-

थायराइड के मरीजों के लिए लहसुन: लहसुन में एलिसिन और फ्लेवोनॉयड जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो थायराइड के मरीजों के लिए फायदेमंद होते हैं। लहसुन खाने से थायराइड ग्रंथी को पर्याप्त मात्रा में पोषण मिलता है जिससे वह कंट्रोल रहता है। इसके अलावा लहसुन खाने से थायराइड के कारण होने वाली परेशानी से भी राहत मिलती है और इसके कारण होने वाले अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से भी छुटकारा मिलता है।

अश्वगंधा: वैज्ञानिक शोध के अनुसार अश्वगंधा हाइपो थायराइड के मरीजों के इलाज में काफी मददगार साबित हो सकता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण थायराइड के मरीजों में होने वाली परेशानी को कम करती है। इसके अलावा अश्वगंधा खाने से मोटापा भी कंट्रोल होता है जो थायराइड के मरीजों के लिए बेहद जरूरी होता है। इतना ही नहीं अश्वगंधा थायराइड को कंट्रोल भी करता है।

विटामिन ए वाले फूड्स: विटामिन ए की कमी के कारण थायरॉयड की समस्या होती है क्योंकि यह वसा में घुलनशील विटामिन टी 3 के स्तर को बढ़ावा देने और टीएसएच को सामान्य करने के लिए दिखाया गया है। इसलिए अपनी डाइट में दूध, अंडा, पालक, पपीता, दही जैसी फूड्स शामिल करें।

दवाई का सेवन करना: थायराइड का इलाज करने का सबसे आसान तरीका दवाई लेना है। ये दवाईयां थायराइड को नियंत्रित रखने अथवा उसे जड़ से खत्म करने में सहायक होती हैं। अत: थायराइड से पीड़ित व्यक्ति दवाई के माध्यम से भी इसका इलाज करा सकता है।

यह भी पढ़े-

हाई बीपी के मरीज पपीता खाने से बचें, इन फूड आइटम्स के सेवन से भी करना चाहिए परहेज