Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / गहलोत कैबिनेट की पहली बैठक में हुए कई अहम् फैसले, वसुंधरा सरकार के फैसलों को भी पलटा

गहलोत कैबिनेट की पहली बैठक में हुए कई अहम् फैसले, वसुंधरा सरकार के फैसलों को भी पलटा

जयपुर: राजस्थान में मंत्रिमंडल के गठन के बाद शनिवार को गहलोत सरकार के कैबिनेट की पहली बैठक हुई जिसमे कई सारे अहम् फैसले लिए गए| इस बैठक में निर्णय लिया गया की अब पंचायती राज चुनावो के लिए कोई शैक्षणिक योग्यता नहीं होगी| इसके अलावा सरकारी दस्ताबेजों से पंडित दीनदयाल धाम की तस्वीर भी हटाई जाएगी| वही निर्णय लिया गया की वसुंधरा सरकार ने जो योजनायें बंद की थी उन्हें फिर से शुरू किया जाएगा|

ये भी फैसले– पहली कैबिनेट में ही कांग्रेस ने डॉ भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय और हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय को फिर से शुरू करने का ऐलान किया है| वसुंधरा सरकार ने सत्ता में आने के बाद इन दोनों विश्वविद्यालयों को बंद कर दिया था| इसके अलावा स्थानीय निकायों में मेयर, सभापति और चेयरमैन के चुनाव अब सीधे होंगे| इसके पहले वसुंधरा सरकार ने पिछली कांग्रेस सरकार के फैसले को पलटते हुए पार्षदों और चुने हुए जनप्रतिनिधियों के द्वारा सभापति और चेयरमैन का चुनाव होना तय किया था| इसके अलावा वृद्धा पेंशन को 500 से बढाकर 750 और 750 से बढाकर एक हजार रुपये कर दिया गया है| राज्य में ठेके पर काम करने वाले संविदा कर्मियों, एनआरएचएम, पारा शिक्षक, उर्दू पारा शिक्षक ,लोक जुंबिश कर्मियों, आंगनबाड़ी, विद्यार्थी मित्रों, पंचायत सहायकों का आंदोलन राजस्थान में काफी दिनों से चल रहा था| उनकी समस्याओं को दूर करने के लिए एक कमेटी का गठन कर दिया है| इसके अलावा फैसले लिए गए है की सभी मंत्री रोजाना सुबह 9 से लेकर 10 बजे तक जनसुनवाई करेंगे|

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *