गहलोत ने पत्र लिखकर मोदी से कहा, राजस्थान में हो रही सरकार गिराने की साजिश

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राज्य सरकार को अस्थिर करने के प्रयास का आरोप लगाया। पत्र के माध्यम से उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि प्रदेश में चुने हुए प्रतिनिधियों की खरीद फरोख्त के जरिए सरकार को अस्थिर करने का प्रयास किया जा रहा है। गहलोत ने यह पत्र 19 जुलाई को लिखा है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि वह नहीं जानते कि आपको किस हद तक जानकारी है अथवा आपको गुमराह किया जा रहा है।

सीएम गहलोत ने लिखा इतिहास इस प्रकार के कृत्य में भागीदार बनने वाले लोगों को कभी माफ नहीं करेगा। उन्हें पूरा यकीन है कि जीत अंत में सच के साथ-साथ स्वस्थ परंपराओं एवं संवैधानिक मूल्यों की होगी। साथ ही हमारी सरकार सुशासन देते हुए अपना कार्यकाल भी पूरा करेगी। गहलोत ने केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत समेत बीजेपी नेताओं का नाम लेते हुए लिखा कि ये सभी कांग्रेस के बागी विधयाकों के साथ मिलकर इस कृत्य में सहायता कर रहे है।

गहलोत ने कर्नाटक और मध्य प्रदेश का उदारहण देते हुए कहा कि कुछ समय से देश में लोकतंत्रित तरीके से चुनी हुई सरकारों को गिराने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने सचिन पायलट पर बीजेपी के साथ मिलकर षडयंत्र रचने का भी आरोप लगाया। साथ ही पीएम से कहा कि यह समय जब लोगों के जीवन और उनकी आजीविका की रक्षा करना है, ऐसे में केंद्र लगातार राज्य सरकार को गिराने की साजिशे रच रहा है। यह सविंधान के मूल्यों के खिलाफ है।

उन्होंने कॉग्रेस के बागी भंवरलाल शर्मा के लिए बोलते हुए कहा कि गजेन्द्र शेखावत के साथ टेप में घूस के लिए चर्चा करते हुए उन्हें सुना जा सकता है। गहलोत ने कहा कि भंवरलाल शर्मा ने इससे पहले बीजेपी सरकार को भी अस्थिर करने का प्रयास किया था। उस वक्त भी राज्य में लोकतांत्रिक तरीसे से चुनी हुई सरकार को गिराने का प्रयास करने के खिलाफ उन्होंने विरोध प्रकट किया था।

यह भी पढ़े: प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिकी निवेशकों से कहा- भारत में निवेश का अच्छा अवसर
यह भी पढ़े: पोलैंड की यूनिवर्सिटी में हुआ हरिवंश राय बच्चन की ‘मधुशाला’ का पाठ, अमिताभ ने दी प्रतिकिया