गले की खराश और खांसी से ऐसे पाएं जल्द राहत

मौसम चाहे कैसा भी हो गले की खराश कब आपको पूरी तरह अपनी गिरफ्त में ले लेगी पता ही नहीं चलेगा। इससे गले में बहुत ही तेज़ दर्द होता है और इससे गले में दर्द और गंभीर सूजन आ जाती है। लेकिन आज हम आपको इन सभी बाधाओं से बचने के लिए बहुत ही आसान घरेलू नुस्खे बताते है….

नमक के गुनगुने पानी से गरारे – यह इलाज सबसे पुराना है और यह सदियों से हमारे द्वारा अपनाया जा रहा है। अगर गले में खराश लग रही है तो नमक के गुनगुने पानी से गरारे करना सबसे पुराना और बहुत ही सरल उपाय माना जाता है।

हल्दी का दूध – गले की खराश से पूरी तरह राहत पाने के लिए दूध में हल्दी मिलाकर पीने की प्रक्रिया प्राचीन भारत से लगातार चली आ रही है। हल्दी का दूध पीने से आपके गले में खराश से हुई सूजन और दर्द दोनों से बहुत ही आसानी से राहत पाई जा सकती है। आयुर्वेद में हल्दी के दूध को प्राकृतिक एंटीबायोटिक के नाम से भी जाना जाता है।

हर्बल चाय – अदरक,दालचीनी,लीकोरिस को एक गिलास पानी में तकरीबन 5 से 10 मिनट मिलाने के बाद उसके मिश्रण को दिन में तीन बार पीने से गले में हुई खराश से बहुत ही आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है।

सेब का सिरका – सेब का सिरका एक तरह का बेहतरीन एसिड होता है जो गले की खराश से जन्में बैक्टीरिया को पूरी तरह खत्म करता है। एक चम्मच एप्पल विनेगर को अपनी हर्बल चाय में मिलाकर पीने से और एक चम्मच विनेगर को ही पानी में मिलाकर गरारे करने से बलगम से पूरी तरह छुटकारा पाया जा सकता है।

लहसुन – लहसुन में सल्फर आधारित योगिक एलेसिन बहुतायत मात्रा में पाया जाता है, जो बैक्टीरिया को पूरी तरह खत्म करता है। लहसुन का एक पीस गाल और दांतो के बीच दबाकर टॉफी की तरह चूसने से गले की खराश और खांसी से बहुत अधिक राहत पाई जा सकती है।