शराब की लत और डिप्रेशन से इस तरह पाएं छुटकारा

वैज्ञानिकों का यह कहना है कि उन्होंने एक ऐसी बेहतरीन दवा विकसित की है, जिससे एल्कोहल पीने की मात्रा में कमी लाकर शराब की लत पूर्ण्तः छुड़ाई जा सकती है और अवसाद यानी तनाव में भी बहुत कमी लाई जा सकती है। अध्ययन के मुताबिक, 2000 के दशक में शराब की लत में बहुत बढ़ोत्तरी हुई। एक अध्ययन में हर 8 व्यक्ति में से 1 में शराब की लत पाई गई।

– 14 करोड़ लोग डिप्रेशन से ग्रस्त

वैज्ञानिकों ने यह कहा कि अवसाद से दुनिया में तकरीबन 14 करोड़ लोग प्रभावित हैं और वे शराब के इस्तेमाल से पैदा हुए रोगों से पूर्ण्तः जूझ रहे हैं। हालांकि, ऐसे रोगों के इलाज के लिए कुछ ही दवाओं को मंजूरी मिली है। इन दवाओं का उद्देश्य शराब पीने की इच्छा में अत्यधिक कमी लाना है, लेकिन इनसे मनोवैज्ञानिक रोगों का इलाज नहीं होता है।

– शराब की लत छुड़ाने वाली दवा

आपको बता दे की अध्ययन में ‘जी’ प्रोटीन युक्त ‘रिसेप्टर’ पर बहुत जोर दिया गया है। इसे डेल्टा ओपिऑयड रिसेप्टर भी कहा जाता है। यह एक ऐसी अनोखी दवा है, जिससे शराब पीने की इच्छा में कमी लाई जा सकती है। इससे ‘साइड इफेक्ट’ से भी बचा जा सकता है।”