बवासीर की समस्या से गर्भावस्था के दौरान पाएँ छुटकारा

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। बवासीर की समस्या इसी में एक है।

दरअसल, प्रेग्नेंसी के दौरान गर्भाशय के साइज में वृद्धि होती है। ऐसा होने से पेल्विक एरिया में दबाव बढ़ता है जिसके कारण रक्‍त का प्रवाह बढ़ता है।

जिससे महिला को न सिर्फ कब्ज की समस्या होती है, बल्कि कई बार मल त्‍यागते वक्‍त गुदा द्वार से खून आने लगता है। यदि आप भी बवासीर से परेशान हैं तो आप इस समस्‍या से कुछ घरेलू उपचारों के जरिए आराम पाया जा सकता है-

प्रेग्नेंसी के दौरान अपने वाटर इनटेक पर पूरा ध्यान दें। महिला को दिन भर में कम से कम 10 गिलास पानी पीना चाहिये। इससे मेटाबॉल्जिम संतुलित रहता है।

कब्‍ज की समस्‍या को दूर करने में फाइबर का एक अहम रोल होता है। इसलिए डाइट में ऐसी चीजों को शामिल करें, जिनमें फाइबर पर्याप्त मात्रा में हो।

अपनी दिनचर्या में एक्‍सारसाइज और योग को श‍ामिल कीजिये। इससे कब्‍ज से तो छुटकारा मिलेगा ही साथ में पाइल्‍स से भी आराम मिलेगा।

मल को त्‍यागने से ना रोंके। जब भी प्रेशर आए तुरंत वॉशरूम जाएं। इसके अलावा मल त्‍यागते वक्‍त जरा सा भी जोर ना लगाएं।

Loading...