त्वचा की गांठ से इस तरह पाएं छुटकारा

891483636

गांठ जिसे दूसरे शब्दों में रसौली भी कहा जाता है। यह शुरू में तो बहुत छोटे आकार की होती हैं लेकिन बाद में धीरे-धीरे करके अत्यधिक बड़ी हो जाती है, जो आगे जाकर अत्यधिक गंभीर बीमारी का कारण भी बनती हैं। फिर जब आप डॉक्टर के पास जाते हैं तो डॉक्टर आपको ऑपरेशन की सलाह भी देते हैं।

लेकिन क्या आपको यह पता है इस गंभीर समस्या का सम्पूर्ण इलाज बिना ऑपरेशन के भी किया जा सकता हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे दो आयुर्वेदिक उपचार बताएंगे, जिसे अपनाकर आप इस गंभीर समस्या से छुटकारा पा सकते है।

पहला उपचार

– 30 ग्राम कचनार की ताजा और सूखी छाल

– 1 गिलास पानी

– 1 चम्मच गोरखमुंडी (पिसी हुई)

सबसे पहले कचनार को अच्छी तरह कूट लें। अब कुटी हुई कचनार को पानी में तकरीबन 2 मिनट तक के लिए उबाल लें। जब यह अच्छे से उबल जाए तब इसमें गोरखमुंडी मिला दें और फिर 1 मिनट के लिए इसे उबालें। अब इस पानी को अच्छी तरह छान लें और दिन में दो बार इस पानी का सेवन अवश्य करें। ऐसा लगभग 25 दिन तक नियमित रूप से करते रहे।

दूसरा उपचार

– आकडे का दूध

– मिट्टी

गांठ को ठीक करने के लिए यह उपचार भी अत्यधिक कारगार है। आकडे के दूध में मिटटी मिला लें फिर इस दूध का लेप जिस स्थान पर गांठ हुई हैं, वहाँ पर लगाएं। आपको इससे बहुत आराम मिलेगा।