खट्टे डकारों से ऐसे पाएं मिनटों में छुटकारा

वर्तमान समय के बदलते लाइफस्टाइल में लोग अपनी डाइट में चटपटी और मासलेदार चीजों को बहुत अधिक अहमियत देने लगे है। अधिकतर मसालेदार चीजों का सेवन करने से खट्टे डकार, पेट फूलना, एसिडिटी, कब्ज की गंभीर समस्या अक्सर रहती है। ऐसा नहीं है कि चटपटा या मसालेदारा खाना खाने से ही पूरी तरह खट्टे डकार आते है बल्कि इसकी कई और भी महत्वपूर्ण वजह हो सकती है, जिन्हें सामान्यतः हम लोग अनदेखा कर देते है। आज हम आपको खट्टे डकार आने के कुछ महत्वपूर्ण कारण और उनसे छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खे भी बताएंगे।

खाना खाने की आदत
बहुत ही गलत ढंग से खाना खाने या खाने के तुरंत बाद लेट जाने से पाचन क्रिया पूरी तरह बिगड़ी है। कई बार तो बहुत अच्छी तरह से खाना चबाकर न खाने या खाने के बीच पानी पीने से पेट में पूरी तरह गैस बनने लगती है, जो डकार के जरिए पूरी तरह बाहर आती है।

खाली पेट चाय या कॉफी पीना
सुबह खाली पेट चाय या कॉफी आदि पीने से पेट में पूरी तरह गैस बनने लगती है और सामान्यतः एसिडिटी रहने लगती है। इसी की वजह से खाना बहुत अच्छे से पच नहीं पाता और खट्टे डकार आने लगते है।

प्रैग्नेंसी
प्रैग्नेंसी में महिलाओं को सांस फूलने की गंभीर समस्या आम होती है। जिसके कारण आवश्यकता से अधिक सांस अंदर चली जाती है। जिससे डकार आना शरू हो जाती है।

खट्टे डकार से बचने के उपाएं

1. दही खट्टे डकार को पूरी तरह रोकने में फायदेमंद होता है। इसमें अम्ल होते है जो डकार बनाने वाले बैक्टीरिया को पूरी तरह खत्म कर देता है।

2. सौंफ खाने से पेट की सारी प्रॉब्लम पूरी तरह खत्म हो जाती है। रोजाना सौंफ के 20-30 दाने खाने से खट्टे डकार आने पूरी तरह बंद हो जाते है।

3. पुदीने के पत्ते भी पेट के लिए अत्यधिक फायदेमंद होते हैं। पत्तों को उबालकर या धोने के बाद खाने से इस गंभीर समस्या से तुंरत छुटकारा पाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:

डायबिटीज जैसे गंभीर रोग से बचने के लिए जानिए इन बातों का रखे ध्यान

इन उपायों की मदद से आप बच सकते है माइग्रेन की गंभीर बीमारी से