बिहार में भी बने “लव जिहाद” के खिलाफ कानून: गिरिराज सिंह

कई राज्यों में “लव जिहाद” के खिलाफ कानून बनने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। अब केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा है कि बिहार में भी “लव जिहाद” के खिलाफ कानून बनना चाहिए।

गिरिराज सिंह ने कहा कि लव जिहाद ना सिर्फ बिहार बल्कि देश के लिये बड़ी समस्या है। उन्होंने बिहार के सीएम नीतीश कुमार से इसकी मांग करते हुए कहा है कि लव जिहाद और जनसंख्या नियंत्रण जैसे मुद्दों का सांप्रदायिकता से कोई संबंध नहीं है। यह सामाजिक समरसता की बात है।

लव जिहाद पर बनने वाले कानून के खास प्रावधान!

1.यदि लड़की का धर्म परिवर्तन सिर्फ विवाह के लिए किया गया तो विवाह शून्य घोषित किया जा सकेगा।

2. यह अपराध गैरजमानती होगा। अभियोग का विचारण प्रथम श्रेणी मैजिस्ट्रेट की कोर्ट में होगा।

3. जबरन या विवाह के लिए धर्म परिवर्तन के मामले में 5 साल तक की सजा और 15 हजार रुपये तक जुर्माना होगा।

4. नाबालिग लड़की, अनुसूचित जाति-जनजाति की महिला के जबरन धर्म परिवर्तन के मामले में दो से सात साल तक की सजा और कम से कम 25 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान होगा।

5. सामूहिक धर्म परिवर्तन के मामलों में अधिकतम 10 साल की सजा और 50 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान होगा।

6. धर्म परिवर्तन के लिए जिला मैजिस्ट्रेट को एक माह पहले सूचना देना अनिवार्य होगा। इसके उल्लंघन पर 6 माह से तीन साल तक की सजा का प्रावधान।

7. अध्यादेश के उल्लंघन की दोषी संस्था या संगठन भी सजा के पात्र होंगे।

आईएएस टीना डाबी और अतहर आमिर को जल्द नहीं मिलेगी तलाक, ये है कारण