घाटी में रह रहे कश्मीरी पंडितों को दिए जाएं हथियार और ट्रेनिंग: पूर्व डीजीपी

कश्मीर के अनंतनाग में कश्मीरी पंडित सरपंच अजय पंडिता भारती की हत्या के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस के पूर्व डीजीपी डॉ एसपी वैद ने कहा है कि कश्मीर घाटी में आतंकवादियों से निपटने के लिए कश्मीरी पंडितों को हथियार और हथियारों की ट्रेनिंग दिए जाएं।

उनका कहना है कि विलेज डिफेंस कमेटी फॉर्मूला को प्लानिंग के साथ लागू करने से कोई नुकसान नहीं है। जम्मू के चिनाब घाटी में हिंदुओं को हथियार दिए गए थे। इससे नब्बे के दशक में हिंदुओं के पलायन को रोकने में मदद मिली थी।

घाटी में कश्मीरी पंडित समुदाय अल्पसंख्या में है और आतंकियों के निशाने पर रहता है। इसीलिए आतंकी हमलों से बचाव के लिए उन्हें भी ट्रेनिंग दी जानी चाहिए। इजरायल की तरह कश्मीर घाटी में भी कमजोर लोगों के लिए विशेष प्रावधान करने की आवश्यकता है।

सरपंच अजय पंडिता भारती की बेटी शीन पंडिता ने अपने पिता के हत्यारे आतंकियों को ललकारते हुए कहा है -कायरो तुम में अगर हिम्मत है तो सामने आओ। मैं तुम्हें छोड़ूगी नहीं। गोली तो मैं तुम्हें मारूंगी। कब तक बुजदिलों की तरह हत्याएं करते रहोगे। शीन ने कहा कि पापा ने अपना कर्तव्य निभा दिया अब सरकार अपनी जिम्मेदारी निभाए।