Home / लेटेस्ट न्यूज़ / इस मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट से पढ चुका हैं देश का यह दिग्गज कॉर्पोरेटर, चौंका देगा नाम

इस मैनेजमेंट इंस्टीट्यूट से पढ चुका हैं देश का यह दिग्गज कॉर्पोरेटर, चौंका देगा नाम

गोवा इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट (जीआईएम), देश के भावी कॉर्पोरेट नेतृत्वकर्ताओं को शिक्षा देने के 25 गौरवशाली वर्षों का जश्न मना रहा है। इस उत्कृष्ट बी-स्कूल ने सैन्क्यूलियम, गोवा स्थित अपने विशाल परिसर में वर्ष 2017-18 के पीजीडीबीएम बैच के लिए अपनी वार्षिक कन्वोकेशन सेरेमनी का आयोजन करके वर्ष भर चलने वाले महोत्सव की शुरुआत की। कन्वोकेशन सेरेमनी के दौरान दीपक पारेख, अध्यक्ष, एचडीएफसी बैंक ने एमबीए डिप्लोमा प्राप्त करने वाले 298 छात्रों को संबोधित किया।
पेशेवर प्रबंधक बनने वाले छात्रों ने औद्योगिक परियोजनाओं के साथ-साथ समुदाय आधारित कार्यों का अनुभव प्राप्त करते हुए, 22 महीनों तक अकादमिक रूप से परिपूर्ण एवं कठोर प्रशिक्षण को पूरा करने के बाद डिप्लोमा प्राप्त किया।

Loading...

पैन कार्ड नियमों को सरल बनाया

कन्वोकेशन सेरेमनी के दौरान डिप्लोमा की उपाधि से सम्मानित किए गए 298 छात्रों में से, 249 छात्र पूर्णकालिक पीजीडीएम (पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट), 20 छात्र पीजीडीएम-पीटी (पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन मैनेजमेंट- पार्ट टाइम), तथा 29 छात्र पीजीडीएम-एचसीएम (पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन हेल्थकेयर मैनेजमेंट) कार्यक्रम से संबद्ध हैं।

पिछले शैक्षणिक वर्ष के संस्थान के प्रदर्शन पर निदेशक की रिपोर्ट के साथ जीआईएम के कन्वोकेशन सेरेमनी की शुरुआत हुई, जहां प्रो. अजीत परुलेकर, निदेशक, जीआईएम, ने बी-स्कूल और उसके छात्रों की उपलब्धियों पर प्रकाश डाला। जीआईएम के छात्रों ने साबित कर दिया कि वे देश के बी-स्कूलों में सर्वश्रेष्ठ में से एक के शिक्षार्थी हैं, जिन्हें भारत की कुछ सिर्फ कंपनियों से नौकरी हेतु प्रस्ताव मिले हैं, जिसके अंतर्गत मैकिन्से, सिटी बैंक, डब्ल्यूएनएस ग्लोबल सर्विसेज, क्राफ्ट हेन्ज़, वेदांता, नियो निच, डिजिट जनरल इंश्योरेंस एंड फार्मास्यूटिकल्स, इंश्योरेंस, हेल्थकेयर आईटी, ऑपरेशंस, मार्केट रिसर्च और स्टार्ट-अप्स, शामिल हैं। अधिकांश छात्रों को नौकरी हेतु आकर्षक प्रस्ताव मिले हैं।

टैक्स फैसलों की अधिसूचना पर टिप्पणियां आमंत्रित

सेरेमनी के मुख्य अतिथि दीपक पारेख, अध्यक्ष, एचडीएफसी बैंक, ने कहा, इस मंच पर उपस्थित होकर मुझे बेहद प्रसन्नता हो रही है। पिछले 25 वर्षों में, गोवा इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमैंट ने बी-स्कूलों के बीच अपनी एक अलग पहचान बनाई है। यह शिक्षण संस्थान अपनी अद्वितीय क्षमता की बदौलत दूसरों से आगे है, साथ ही यह मौजूदा प्रवृतियों के अनुरूप नए कार्यक्रम प्रस्तुत करता है जैसे कि, एचआर विश्लेषिकी, स्वास्थ्य प्रबंधन, नवाचार एवं उद्भवन केन्द्र तथा सिद्धांत आधारित प्रबंधन शिक्षा।

दीपक पारेख ने योग्य छात्रों को डिप्लोमा और विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया। पीजीडीएम में सर्वश्रेष्ठ अकादमिक प्रदर्शन हेतु दामोदर पाद बोरकर स्वर्ण पदक पुरस्कार वरुण खानुजा को दिया गया, जबकि ऐश्वर्या उर्फ अंकिता उगम सीनाई उसगांवकर को शैक्षणिक प्रदर्शन के लिए जीआईएम रजत पदक मिला। पाठ्येतर गतिविधियों हेतु विशिष्ट सम्मान के तौर पाई खोत दिनराज विजयकुमार को पर डॉ. दीपा मार्टिन मेमोरियल अवार्ड से सम्मानित किया गया।

ITDC की आंध्र प्रदेश में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 550 करोड़ रूपए की परियोजना

कन्वोकेशन सेरेमनी में बोलते हुए, प्रो. अजीत परुलेकर, निदेशक, जीआईएम, ने कहा, गत वर्षों में हमने काफी प्रगति की है और यह बात जगजाहिर है। मैंने कभी भी जीआईएम के सभी मापदंडों पर ऐसी उत्कृष्ट संख्या नहीं देखी है। जीआईएम के 25 वर्ष पूर्ण होने के साथ, हम बड़ी चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हैं। विवर्तनिक बदलाव उस तरीके से मौजूद हैं जिसमें कार्य पूर्ण हो रहे हैं। शिक्षा के क्षेत्र में भी कई स्तरों पर परिवर्तन हो रहे हैं। छात्रों की कुशलता का आकलन दस्तावेजों पर नहीं बल्कि वास्तविक जगत में प्रदर्शन पर आधारित होगा।

 

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *