सरकार अपनी पूरी क्षमता से कोविड महामारी की चुनौतियों से निपटेगी: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने कहा है कि सरकार अपनी पूरी क्षमता से कोविड महामारी की चुनौतियों से निपटेगी। देश का औषधि क्षेत्र बड़ी संख्‍या में दवाओं का निर्माण और आपूर्ति कर रहा है और केन्‍द्र अपनी पूरी क्षमता के साथ नए कोविड अस्‍पताल और ऑक्‍सीजन प्‍लांट लगाने का काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि सशस्‍त्र सेनाएं कोविड महामारी की मुश्किल घड़ी में अपनी पूरी ताकत के साथ ऑक्‍सीजन की आपूर्ति करने में जुटी हुई हैं।

हमारी तीनों सेनाएं, वायुसेना, नेवी, आर्मी सभी पूरी शक्ति से इस काम में जुटे हैं। ऑक्‍सीजन रेल, इसने कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई को बहुत बड़ी ताकत दी है। देश के दूर-सुदूर हिस्‍सों में यह ऑक्‍सीजन रेल, ऑक्‍सीजन पहुंचाने में जुटी हैं।

ऑक्‍सीजन टैंकर्स ले जाने वाले ट्रक ड्राइवर्स बिना रूके काम कर रहे हैं। देश के डॉक्‍टर्स हों, नर्सिंग स्‍टाफ हों, सफाई कर्मचारी हों, एम्‍बुलेंस के ड्राइवर्स हों, लैब में काम करने वाले सज्‍जन हों, एक-एक जीवन को बचाने के लिये चौबीसों घंटे जुटे हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने राज्यों से दवाओं और चिकित्सा सामग्री की कालाबाजारी करने वालों के विरुद्ध कड़े कानून बनाने का आह्वान किया।

इस संकट के समय में दवाइयां और जरूरी वस्‍तुओं की जमाखोरी और कालाबाजारी में भी कुछ लोग अपने निहिर्थ स्‍वार्थ के कारण लगे हुए हैं। मैं राज्‍य सरकारों से आग्रह करूंगा कि ऐसे लोगों पर कठोर से कठोर कार्यवाही की जाये। यह मानवता के खिलाफ का कृत्‍य है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि महामारी के दौरान लोगों की कठिनाइयां दूर करने के लिए केन्‍द्र सरकार ने कई ठोस कदम उठाएं हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के माध्‍यम से पिछले वर्ष आठ महीने तक गरीबों को मुफ्त राशन दिया गया। इस बार मई और जून महीने में देश के 80 करोड़ से ज्‍यादा साथियों को राशन मिले, इसका प्रबन्‍ध भी किया गया है।

इस पर केन्‍द्र सरकार 26 हजार करोड़ रूपये हमारे गरीब के घर में चूल्‍हा जले, इसलिये खर्च कर रही है। मैं राज्‍य सरकारों से आग्रह करूंगा कि गरीबों को इस राशन के वितरण में कोई परेशानी ना आए, यह सुनिश्चित करें।

यह भी पढ़ें:

93 साल के इस बुजुर्ग की कहानी रुला देगी!