नेपोटिज्म की बहस में कूदे ‘हीरो नंबर 1’ गोविंदा, स्ट्रगल के दिनों को किया याद

बॉलीवुड अभिनेता गोविंदा भी अब नेपोटिज्म की बहस में कूद गए है। अपने डांस और कॉमिक टाइमिंग से सभी का मनोरंजन करने वाले गोविंदा भले ही आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है। लेकिन करियर के शुरुआती क्षणों में उन्होंने भी काफी स्ट्रगल किया है। तमाम परेशानियों के बाद भी गोविंदा ने एक सफल हीरों के रूप में खुद को इंडस्ट्री में स्थापित किया। हाल ही में उन्होंने इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर कर सरोज खान के निधन पर दुःख प्रकट किया था।

गोविंदा कहते है कि करियर के शुरूआती क्षणों में उन्हें प्रोड्यूसर से मिलने के लिए घंटों इंतजार करना पड़ता था। उस वक्त इंडस्ट्री में उन्हें कोई जानता भी नहीं था और कई लोगो ने उनसे यह भी कह डाला था कि वह इंडस्ट्री में अपना सिक्का नहीं जमा पाएंगे। गोविंदा कहते है कि सिर्फ वही नहीं और भी कलाकारों ने ऐसा समय देखा होगा। दरअसल, इंडस्ट्री में प्रतिस्पर्धा भी काफी ज्यादा है और कई लोग इस बिजनेस को कंट्रोल करते हैं। लेकिन अब समय बदल रहा है।

हीरो नंबर 1 का टैग रखने वाले गोविंदा कहते है कि उन्हें खुशी है कि अब समय बदल रहा है। उनकी भी कई फ़िल्में फ्लॉप हुई क्योंकि उन्हें सही समय पर और सही तरीके से रिलीज नहीं किया गया।

यह भी पढ़े: देश में पिछले 24 घंटों में देश में रिकॉर्ड 40 हजार 425 कोरोना केस और 681 मौतें
यह भी पढ़े: वायरल हुई सुशांत सिंह राजपूत के हमशक्ल की तस्वीर, देखकर चकरा जाएगा दिमाग