गर्भावस्था के दौरान पीना चाहिये ग्रीन टी , पर सँभलकर

गर्भावस्था में स्त्री को अपने खानपान को लेकर काफी सतर्कता बरतनी पड़ती है। ऐसी कई चीजें हैं, जो हेल्दी होती हैं, लेकिन फिर भी उनका सेवन गर्भावस्था में हानिकारक माना जाता है। ऐसी ही एक चीज है ग्रीन टी। यूं तो सेहत के लिए यह लाभदायक होती है, लेकिन एक गर्भवती स्त्री को डाॅक्टर की सलाह पर इसका सेवन करना चाहिए। साथ ही अगर आप इसका सेवन कर रही हैं तो एक कप से ज्यादा न करें। इससे अधिक ग्रीन टी नुकसानदेह होगा। तो चलिए जानते हैं अधिक ग्रीन टी पीने से सेहत को होने वाले कुछ नुकसान के बारे में-

अधिक मात्रा में ग्रीन टी पीने से गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान हो सकता है। साथ ही इससे बच्चे के विकास में बाधा उत्पन्न होती है। ऐसा इसमें मौजूद कैफीन के कारण होता है।

इसके अतिरिक्त यह किडनी और लिवर पर बुरा असर पड़ता है। ऐसे में बेहतर होगा कि ग्रीन टी का सेवन गर्भवती महिलाओं ना करें।

ग्रीन टी पीने से भूख लगनी बंद हो जाती है, जिससे गर्भ में पल रहे बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। इतना ही नहीं, पोषक तत्वों की कमी के चलते बच्चा कुपोषित भी हो सकता है।

इस दौरान 2-3 ग्रीन टी का सेवन करने से बच्चा प्रीमेच्योर पैदा हो सकता है। इसकी बजाए आप फलों व सब्जियों के जूस को अपनी डाइट का हिस्सा बना सकती हैं।

ग्रीन टी आयरन को अवशोषित करती है, जिसके कारण गर्भवती महिला के शरीर में खून की कमी हो सकती हैं। साथ ही जो महिलाएं पहले ही एनीमिया की शिकार हैं उन्हें और भी ज्यादा नुकसान हो सकता है।