4 माह के निचले स्तर पर सर्विस सेक्टर का ग्रोथ, महंगाई और बिगड़ते मौसम का असर

महंगाई और बिगड़ते मौसम की वजह से भारत के सर्विस सेक्टर की गतिविधियों की रफ्तार जुलाई के महीने में मंद पड़ गई। एक मासिक सर्वेक्षण में बुधवार को यह जानकारी दी गई। मौसमी रूप से समायोजित एसएंडपी ग्लोबल का भारत सर्विस पीएमआई व्यवसाय गतिविधि सूचकांक जुलाई में घटकर में 55.5 हो गया, जो जून में 59.2 था। यह

चार महीने में सबसे कम गति की वृद्धि को दर्शाता है। वहीं, यह लगातार 12वां महीना है, जब सेवा क्षेत्र की गतिविधियों में विस्तार हुआ। परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स (पीएमआई) की भाषा में 50 से अधिक अंक का अर्थ है कि गतिविधियों में विस्तार हो रहा है, जबकि 50 से कम अंक संकुचन को दर्शाता है।

सर्वे के मुताबिक जिन सर्विस प्रोवाइडर्स ने जुलाई में बिक्री अच्छी रहने की जानकारी दी है उन्होंने इसकी वजह मांग की अनुकूल परिस्थितियां और विज्ञापन का लाभ मिलने की बात कही। हालांकि सर्वे के भागीदारों ने कहा कि तीव्र प्रतिस्पर्धा और प्रतिकूल मौसम के कारण वृद्धि प्रभावित हुई।

एसएंडपी ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस की आर्थिक संयुक्त निदेशक पोलियाना डी लीमा ने कहा कि इस वजह से भारत की सर्विस अर्थव्यवस्था की गति खासी कम हुई है।

यह पढ़े: शहरी खपत बढ़ने से दैनिक उपयोग का सामान बनाने वाले उद्योग में सुधार: रिपोर्ट