कोविड-19 को देखते हुए मुहर्रम के लिए गाइडलाइन्स जारी, जुलूस निकालने पर रोक

मुहर्रम के पर्व के मद्द्येनजर जमुई जिले के सदर थाना परिसर में टाउन थाना अध्यक्ष व सीओ की अध्यक्षता में शांति समिति की बैठक आयोजित की गई। इस बार जमुई जिले में मुहर्रम पर्व को लॉकडाउन का पालन करते हुए शांति पूर्वक संपन्न कराने को लेकर इस बैठक मे चर्चा हुई। सभी ने बैठक मे यह निर्णय लिया कि सरकार द्वारा कोरोना पर जारी नयी गाइडलाइन का पालन करते हुए ही इस बार मुहर्रम पर्व पर किसी भी प्रकार का जुलूस नहीं निकाला जाएगा।

सदर थानाध्यक्ष चंदन कुमार ने बताया कि “बैठक मे मुहर्रम के दौरान ताजिया, सीपर अथवा अखाड़े का कोई जुलूस इत्यादि नहीं निकालने का फैसला लिया गया है। इसके साथ ही किसी तरह के शोरगुल करने पर भी रोक लगा दी गयी है। शस्त्र-प्रदर्शन व लाउडस्पीकर पर भी पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। इमामबाड़ा में स्थानीय व्यक्तियों को एकत्रित होने की अनुमति भी नहीं दी गई है एवं लोगों को अपने-अपने घरों में केवल अपने परिवार के सदस्य के साथ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मजलिस का आयोजन करने का निर्देश दिया गया है”।

कोरोना महामारी ने लोगो का जीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त कर दिया है। इसका असर अब रोज़मर्रा की ज़िंदगी के साथ ही सभी पर्व-त्योहारों पर भी होने लगा है।  हालांकि, कोरोना को लेकर सरकार ने गाइडलाइन्स जारी कर दिया है। जारी लॉकडाउन के गाइडलाइन्स के अनुसार किसी प्रकार का धार्मिक आयोजन नहीं करने का निर्देश दिया गया है।