ज्ञानवापी प्रकरणः शृंगार गौरी केस की मेरिट पर सुनवाई आज, दाखिल होना है बहस का जवाब

ज्ञानवापी प्रकरण में शृंगार गौरी केस की मेरिट पर सुनवाई गुरुवार को जिला जज डॉ. अजय कृष्ण विश्वेश की अदालत में होगी। पिछली सुनवाई में हिंदू पक्ष की ओर से बहस पूरी की गई थी। गुरुवार को अंजुमन इंतजामिया की तरफ से बहस के सम्बंध में जवाब दाखिल किया जाना है।

चूंकि इंतजामिया के मुख्य अधिवक्ता अभयनाथ यादव का पिछली रविवार की रात हृदय गति रुक जाने के कारण निधन हो गया था, इसलिए सुनवाई टल सकती है। मुस्लिम पक्ष से अभी तक कोर्ट में अभयनाथ यादव ने ही दलीलें रखी थीं। पिछले वर्ष सिविल जज (सीनियर डिविजन) की अदालत में शृंगार गौरी के दर्शन-पूजन व सौंपने सम्बंधी मांग को लेकर वादी राखी सिंह सहित पांच महिलाओं ने गुहार लगाई थी।

प्रतिवादी अंजुमन इंतजामिया मसाजिद ने वाद की पोषणीयता पर सवाल उठाया। अदालत ने प्रतिवादी की अर्जी को दरकिनार करते हुए वादी की मांग पर सुनवाई की। ज्ञानवापी परिसर का सर्वे कराकर रिपोर्ट तलब कर ली। तब अंजुमन इंतजामिया मसाजिद ने उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। उच्चतम न्यायालय के आदेश पर जिला जज की अदालत में सुनवाई चल रही है।

26 मई से शुरू सुनवाई में चार तिथि पर अंजुमन इंतजामिया मसाजिद की ओर से केस को खारिज करके लिए बहस की गई। इसके बाद वरिष्ठ अधिवक्ता हरिशंकर जैन ने वादी 2 से 5 की ओर से बहस की थी। पिछली तिथि पर वादी संख्या-एक राखी सिंह की ओर से बहस पूरी हो चुकी है।

यह पढ़े: सीएम योगी का आज आजमगढ़ और वाराणसी दौरा, 143 करोड़ की योजनाओं का देंगे तोहफा