बालों से भी कई बीमारियों के संकेत मिलते हैं

बदलती लाइफस्टाइल और खानपान की आदतों के कारण आजकल हर कोई सफेद बाल, दोमुंहे बाल, झड़ते बालों से परेशान है। इसके लिए लोग तरह-तरह के हेयर प्रॉड्क्ट का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इनमें कई तरह के कैमिक्लस भी होते है, जो कई बार हमारे बालों को सूट नहीं करते है।

हमारे बाल किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी दे रहे होते है, जिनसे हम लोग अंजान होते है। इसलिए अगर आप भी बालों की कुछ ऐसी गंभीर समस्य़ा के शिकार है तो एक बार डॉक्टर की सलाह अवश्य लें।

ट्राईकोरेक्सिस नोडोसा (Tricorrexis nodosa) नामक जेनेटिक बीमारी के कारण बाल दो मुंहे होकर बहुत जल्द टूटने लगते है।

शरीर में जरूरत से ज्यादा टेस्टोस्टेरोन की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाने के कारण सिर के बीच वाले हिस्से के बाल बहुत ही तेजी से झड़ने लगते है दोबारा नहीं उगते हैं ।

मेलेनिन नामक हॉर्मोन की कमी के कारण भी बाल सफेद होने लगते है।

यह सेबोरेहिक डर्मेटाइटिस नामक बीमारी को गंभीर संकेत हो सकता है। इस बीमारी के चलते बालों में डैड्रर्फ, ड्राईनेस और बाल बहुत ही तेजी से झड़ने लगते है।

शरीर में प्रोटीन की कमी के कारण बाल बहुत ही पतले हो कर तेजी से झड़ने शुरू हो जाते है।

यह भी पढ़ें-

अपनाये ये घरेलु उपाए अगर आप कमर दर्द से है परेशान