सेहत के लिए हेयर कलर करना हो सकता है खतरनाक !

यह कोई नई बात नहीं कि बालों को डाई करना वर्तमान का ट्रैंड बन चुका है। लड़कियां हो या लड़के, अपने बालों को नए-नए रंग देने के लिए हेयर कलर्स का सहारा अवश्य ले रहे है लेकिन क्या आपने कभी हेयर कलर करवाने से पहले इससे होने वाले स्वास्थ्य जोखिमों के बारे में सोचा है? बालों को डाई करना , सेहत के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है। अगर आप भी ढेरों पैसे खर्च करके अपने बालों हेयर कलर करवाने जा रही है तो पहले इसके साइड-इफैक्ट्स के बारे में पूरी तरह अच्छे से जान लें।

बालों का टूटना
हेयर कलर्स या डाई में अमोनिया का इस्तेमाल किया जाता है। यह तत्व हेयर फाइबर को खोलकर बालों पर अपना काम करता है। पर्मानेंट हेयर कलर में अदिक मात्रा में अमोनिया का उपयोग होता है। यह बालों को कमजोर बना देता है और बालों में मौजूद प्राकृतिक प्रोटीन को छीन लेता है, जिस वजह से बालों की किस्में खराब होने लगती है और कमजोर और टूटने लगते है।
 रूखे हेयर
हेयर डाई में मौजूद अमोनिया बालों की चमक को कम कर देता है, खासकर जब आप एक के बाद एक हेयर कलर करवा रही हो। अगर आप जरूरत से ज्यादा बालों को डाई करती है तो इससे स्कैल्प में रूसी की मात्रा बढ़ सकती है। इससे बालों को मॉइवरेट करने के लिए मॉइस्चराइज नहीं मिलता।
बालों के विकास में रूकावट
हेयर डाई में मौजूद रसायन बालों के रोम को बहुत नुकसान पहुंचाते है। इसका मतलब है कि बालों का बढ़ना बहुत मुश्किल हो जाता है। गंजापन और बालों का तेजी झड़़ना शुरू हो जाता है। अगर आपको ऐसा कुछ दिखाई देता है तो बालों को डाई करने के लिए थोड़ी ब्रेक ले या फिर इसका उपयोग करना ही बंद कर दें।
कैंसर का खतरा
नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट के अनुसार, गाढ़े रंग के पर्मानेंट हेयर डाई से ल्यूकेमिया या लिम्फोमा जैसे रोग हो सकते हैं। । उन्होंने ने बताया कि 1980 से पहले हेयर डाई का इस्तेमाल करने वाले लोगों को कैंसर के जोखिम का सामना करना पड़ा है। खासकर जिन्होंने ज्यादा डार्क कलर का इस्तेमाल किया है। इसलिए हेयर डाई करवाने से पहले ही सावधान हो जाएं।
एलर्जी
कई रासायनिक उत्पादों के साथ बने हेयर कलर्स एलर्जी का गंभीर कारण भी बन सकते है। इससे रूसी, खुजली और आंखों के चारों ओर लालच या सूजन की समस्या आ सकती है। खासकर छोटी उम्र के लोग इन लक्षणों को कभी अनदेखा न करें। अगर आपकी स्किन ज्यादा संवेदनशिल है तो हेयर डाई से बचें।

यह भी पढ़ें-

अपनाये ये आसान उपाय अस्थमा से बचने के लिए !