हाथरस केस: जेल में बंद आरोपियों ने लिखी चिट्ठी, कहा-लड़की को उसके मां-भाई ने मारा

हाथरस गैंगरेप मामले में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं। मामले में आरोपी बनाये गए युवक अभी जेल में हैं। वहीं से उन्होंने पुलिस अधीक्षक (एसपी) को चिट्ठी लिखकर भेजी हैं। जिसमें उन्होंने कहा है कि वे निर्दोष हैं और उनका इस पूरे मामले से कोई लेना-देना नहीं हैं। इसलिए वे मामले की निष्पक्ष जांच चाहते है। जेल में बंद चारों आरोपियों में से एक संदीप का कहना हैं कि लड़की को उसके घर वालों ने ही मारा हैं क्योंकि उन्हें हमारी दोस्ती बिल्कुल पसंद नहीं थी।

आरोपी संदीप ने अपने खत में लिखा है कि उस पर लगाए गए आरोप सभी झूठे हैं। उसके साथ उसके रिश्तेदार रवि और रामू को भी फंसाया गया हैं। साथ ही लवकुश का नाम भी डाला गया है। हम चारों निर्दोष है और निष्पक्ष जांच की मांग करते हैं। संदीप ने लिखा लड़की उसके गांव की थी और व उसकी दोस्त थी। कभी-कभी मुलाकात के साथ-साथ दोनों की फोन पर भी बात हो जाया करती थी। लेकिन लड़की के घरवाले इस दोस्ती से नफरत किया करते थे।

संदीप ने आगे लिखा कि घटना के दिन लड़की के साथ उसने खेत में मुलाकात की थी। उस वक्त उसके साथ उसके भाई और मां भी थे। इसके बाद जब वह घर चला गया और जानवरों को पानी पिलाने लगा। बाद में उसे गांव वालों से पता चला कि हमारी दोस्ती की वजह से लड़की को उसके भाई और मां ने बुरी तरह पीटा, जिससे उसे गंभीर चोटें आई और उसने दम तोड़ दिया। संदीप ने कहा कि उसने कभी लड़की के साथ मारपीट और गलत काम नहीं किया।

यह भी पढ़े: पश्चिम बंगाल में ममता सरकार के खिलाफ BJP का प्रदर्शन, कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज
यह भी पढ़े: अमेरिका: व्हाइट हाउस में बढ़े कोरोना के मामले, ट्रंप के करीबी 27 लोग संक्रमित

Loading...