HDFC Bank का नया प्लान, ग्राहकों को मिलेंगी और बेहतर सुविधाएं

निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक ने हर साल करीब 1,500 से 2,000 शाखाएं खोलने के साथ अगले तीन से पांच वर्ष के दौरान अपनी शाखाओं के नेटवर्क को दोगुना करने की योजना बनाई है। निजी क्षेत्र के बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) शशिधर जगदीशन ने 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट में शेयरधारकों से कहा एचडीएफसी लिमिटेड का और एचडीएफसी बैंक का प्रस्तावित विलय भविष्य में एक पूरी तरह से अलग पहलू लाएगा।

उन्होंने कहा, ”हमारा मानना ​​है कि रास्ता बहुत बड़ा है और हम संभावित रूप से हर पांच साल में एक एचडीएफसी बैंक खड़ा कर सकते हैं।” जगदीशन ने आगे कहा कि बैंक का हर साल 1,500 से 2,000 शाखाएं खोलकर अगले तीन से पांच वर्षों में अपनी शाखाओं के नेटवर्क को लगभग दोगुना करने का प्रस्ताव है।

वर्तमान में पूरे भारत में बैंक की 6,000 से अधिक शाखाएं हैं। उन्होंने कहा, ”देश की जनसंख्या के अनुसार, बैंक की शाखाओं की संख्या आर्थिक सहयोग और विकास संगठन (ओईसीडी) देशों की तुलना में बहुत कम है। देश में हमारी 6,000 से अधिक शाखाएं हैं

हम अगले तीन से पांच वर्षों में हर साल 1,500 से 2,000 शाखाएं खोलकर अपने नेटवर्क को लगभग दोगुना करने की योजना बना रहे हैं।’ इस साल अप्रैल की शुरुआत में हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कॉरपोरेशन (एचडीएफसी) और इसकी अनुषंगी कंपनी एचडीएफसी बैंक ने विलय की घोषणा की थी। इसके 15 से 18 महीनों में पूरा होने की उम्मीद है।

यह पढ़े: अमेरिका में मंदी की आशंकाएं जोर पर, मस्क ने ही नहीं, इन सबने भी चेताया