सामने बैठा व्यक्ति भी हमारी एनर्जी की करता है चोरी

हम सभी के साथ ऐसा कभी न कभी होता है कि कुछ लोगों के साथ बैठना हमें विल्कुल पसंद नहीं आता और बहुत नेगेटिव फीलिंग आती है। क्या आपने कभी ये सोचा है कि ऐसा क्यों होता है? जब सामने बैठा आदमी हमारी एनर्जी की चोरी करता  है तो हमें नेगेटिव महसूस होता है।

हर एक चीज का आधार एनर्जी ही है और अब तो ये बात भी साबित हो गई है कि हम इंसान एक-दूसरे की एनर्जी को सोखते हैं।

जर्मनी के बीलफेल्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने एक रिसर्च में पाया है कि पौधे भी एनर्जी के लिए दूसरे पौधों का दोहन करने में सक्षम होते हैं। थेरपिस्ट और उनकी टीम ने पौधों से जुड़ी इस जानकारी को ही अपनी रिसर्च का आधार बनाया। अभी तक यही माना जाता रहा था कि पौधों को सिर्फ फोटोसिंथेसिस से ही एनर्जी मिलती है लेकिन इस रिसर्च से साफ हो गया है कि पौधे दूसरे पौधों से भी एनर्जी लेते हैं।

उनका  कहना है कि हमारा शरीर स्पंज की तरह होता है और वह अपने आस-पास मौजूद एनर्जी को सोखता रहता है। तभी जब हम अलग-अलग व्यवहार वाले लोगों के समूह में खड़े होते हैं तो असहज हो जाते हैं। एनर्जी के कारण ही हमारे मूड में बदलाव भी होते हैं। जब एनर्जी का लेवल अच्छा होता है तो हम पॉजिटिव फील करते हैं वहीं जब एनर्जी का लेवल कम होता है तो नेगेटिव फील करते है।

उनका कहना है कि जिस ताकत को हम सुपर नैचरल कहते हैं वह कुछ और नहीं हमारे चारों ओर बिखरी हुई एनर्जी ही है। हालांकि ये पहला मौका नहीं है जब इस तरह की बातें कही गई है लेकिन पहली बार इसे वैज्ञानिकों ने भी स्वीकार किया है। वैसे कुछ वैज्ञानिक इसे सिरे से ख़ारिज भी रहे हैं।

सेहत के लिए बेहद गुणकारी होता है कच्चा पपीता, जानिए इसके फायदे

बालों से जुड़ी सभी समस्याओं का रामबाण इलाज है आलू का रस, जानिए लगाने का तरीका