Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / हेल्थ एंड फिटनेस: लक्षण पहचानें और बीमारियों से बचें

हेल्थ एंड फिटनेस: लक्षण पहचानें और बीमारियों से बचें

आजकल की लाइफ स्टाइल ही कुछ अजीबो-गरीब हो गई है, जिसकी वजह से हम छोटी-छोटी परेशानियों को गंभीर बना लेते है। लेकिन यह गलत बात है। आपको बता दें कि हमारे शरीर में होने वाली छोटी-छोटी परेशानियों का ध्यान रखना पड़ता है, जिससे हम बड़ी मुश्किल से बच सकते है। चलिए अब आपको बताते है कि बहुत अधिक पसीना आना, होंठ, कटे-फटे नजर आना, लगातार सिर में रहना जैसे लक्षण हमें आने वाली बामारियों से आगाह करते हैं। स्वास्थ्य से जुड़े इन संकतों की पहचान कर बीमारियों से निपटा जा सकता है।

loading...

लगातार सिरदर्द होनानींद पूरी होना, भूख लगना, तनाव आदि की वजह से सिरदर्द की समस्या कभी-कभार हो सकती है, लेकिन लगातार सिरदर्द होना भी एक गंभीर समस्या हो सकती है। इसलिए लगातार सिरदर्द बने रहे तो डॉक्टरों की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

उपचार

सिरदर्द के किसी अन्य बीमारी में परिवर्तित होने की संभावना बहुत कम होती है। अत : ज्यादा घबराने की जरूरत नहीं है। अक्सर होने वाले सिरदर्द के लिए डॉक्टर से सलाह लें, और सिरदर्द की अवधि, तीव्रता, जगह और अन्य डिटेल बताकर भी बतानी चाहिए।

ज्यादा पसीना आना : पसीना आना एक प्राकृतिक क्रिया है, जो शरीर का तापमान नियमित रखने में मदद करती है, पसीना गर्मी और आद्र्रता के कारण से आता है। जब रात के समय ज्यादा पसीना आने लगे, तो यह शरीर में होने वाले सीरियस इंफेक्शन की ओर इशारा करता है। इसके अलावा यह कई भावनात्मक तनाव, जैसे, गुस्सा, घबराहट, शर्मिंदगी आदि की वजह से भी आ सकता है।

उपचार

पसीना अधिक आता है या नहीं, इसकी पहचान करना बहुत मुश्किल है। अमूमन पसीना व्यक्ति की प्रकृति के मुताबिक कम या ज्यादा आता है। इसका आना पानी पीने की मात्रा और शरीर की गर्मी पर भी निर्भर करता है। यदि ऐसा महसूस हो कि पसीना बहुत अधिक आ रहा है। तो डॉक्टर से संपर्क कीजिए।

-पीठ दर्द : पीठ दर्द की कई वजह हो सकती है, जैसे- लंबे वक्त तक बैठकर काम करना, जिम में अत्यधिक वर्कआउट करना, ज्यादा वजन उठाना आदि। कई बार स्पाइनल डिस्क के बीच में गैप हो जाता है। इससे भी दर्द होता है। स्लिप डिस्क औरसाइटिका से भी पीठ दर्द की शिकायत होती है।

उपचार

यदि हमेशा पीठ दर्द बना रहता है तो आपको डॉक्टरों की सलाह की जरूरत होती है। इसलिए आप डॉक्टर से सलाह लेकर उपचार करवाना चाहिए।

Loading...
loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *