गर्मियों में बहुत लाभप्रद है बेल का सेवन, जानिए इसके फायदे

आप पके हुए बेल या इसके गूदे को पानी में घोलकर चीनी मिलाकर शर्बत बनाकर पी सकते हैं। बेल के कच्चे फल को तोड़कर उसे सुखाकर उसका चूर्ण भी बनाया जा सकता है। बेल की तासीर बहुत ठंडी होती है। इस कारण गर्मियों में बेल का सेवन बहुत लाभप्रद है।

बेल का शरबत बनाने का तरीका:

आवश्यक सामग्री
बेल फल – 2
चीनी – 4 –5 टेबल स्पून
भुना जीरा – 1 छोटी चम्मच
काला नमक – 1 चम्मच

विधि:-

बेल को धोइये, काटिये और गूदा निकाल लीजिये।
एक भगोने में गूदे से दो गुना पानी डालकर अच्छी तरह मसल लीजिये।
इतना मसलिये कि सारा गूदा और पानी एक लगने लगे।

इस मसले गूदे को मोटे छेद वाली चलनी में छान लीजिये, चमचे से दबा दबा कर सारा रस निकाल लीजिये।

निकाले हुये रस में चीनी मिला लीजिये। जब चीनी अच्छी तरह घुल जाय तो इसमें ठंडा पानी या बर्फ के क्यूब मिलाईये। नमक और भुना जीरा भी मिलाईये। एक किलो बेल के फल से लगभर चार पांच गिलास शरबत बन जाता है।

ठंडा मीठा बेल का शरबत तैयार है।

ये पेट को बहुत ठंडा रखता है।
ये आसानी से डायजेस्ट होने वाला है।
इसके सेवन से गैस और कब्ज की समस्या दूर होती है।
बेल का शरबत टीनेजर्स और यंग एडल्ट्स के लिए बहुत अच्छा है।
खून साफ करने में मदद करता है।
बेल एक ऐसा फल है जो पेड़ से टूटने के बाद भी कई दिन तक सही रहता है।
बेल में कई न्यूट्रिशंस जैसे प्रोटीन, बीटा-कैरोटीन, थायमीन, राइबोफ्लेविन और विटामिन C उच्चे मात्रा में पाया जाता है।

Loading...