घर में मौजूद लाल मिर्ची से सिर्फ 60 सेकेंड में रोक सकते हैं हार्ट अटैक

जिंदगी में कई बार ऐसा समय आता है जब हम या हमारे अपने किसी जानलेवा स्थिति में फंस जाते हैं, ऐसे में जरूरी ज्ञान होना अति आवश्यक है। कई बार कॉमन सेंस हथियार के तौर पर काम कर जाता है। दिल का दौरा पड़ने की स्थिति में भी यही बात लागू होती है। त्वरित इलाज से मरीजों को ठीक होना इस बात का प्रमाण है।

क्या कहते हैं विशेषज्ञ- जाने-माने हर्बलिस्ट जॉन क्रिस्टोफर की राय भी इससे कुछ जुदा नहीं है। उन्होंने कई ऐसे नुस्खों का इजात किया है जो दिल का दौरा पड़ने के समय असरदार हो सकते हैं। उनके अनुसार ऐसे समय में 50 से भी अधिक औषधीय नुस्खें हैं जो काम आ सकते हैं जिनमें से कैयेने पेप्पर यानि कि लाल मिर्च प्रमुख है। लाल मिर्च पूरे विश्व में पाए जाने वाला एक आम तरह का मिर्च है। क्रिस्टोफर के मुताबिक लाल मिर्च के प्रयोग से दिल का दौरा पड़ने पर एक मिनट के अंदर ही रोका जा सकता है। स्कॉविल हीट यूनिट्स से ली गई जानकारी के अनुसार 1 लाल मिर्च में 90 हजार से भी अधिक स्कॉविल यूनिट पाए जाते हैं। इसके अलावा स्कॉच बॉनेट्स, थाई चाई, अफ्रीकन बर्ड, हबनेरो, जलपेनो आदि भी मिर्च के कई प्रकार हैं जो ऐसे समय में काम में लाए जा सकते हैं।

किस तरह की सावधानी बरतनी है जरूरी- क्रिस्टोफर के अनुसार इस नुस्खे को इस्तेमाल करते वक्त मरीज होश में होना चाहिए। एक चम्मच लाल मिर्च को एक गिलास पानी में मिलाकर धीरे-धीरे मरीज को पिलाना चाहिए। बेहोशी की हालत में उस सॉल्यूशन की कुछ बूंदें मरीज के जीभ के नीचे डालने से हृदय गति बढ़ जाती है जिससे शरीर में खून का बहाव ठीक तरीके से होने लगता है। सफाई और सुरक्षा बेहद अहम है इसलिए हाथ में ग्लव्स पहनकर ही कार्य करना चाहिए।

लाल मिर्च के अन्य फायदे- कई तरह की एलर्जियों के इलाज में भी लाल मिर्च बेहद कारगर है। इसके अलावा फ्लू होने पर भी लोग इसका सेवन करते हैं। लाल मिर्च पेट और दांत के दर्द को कम करने में मददगार है। वहीं, माइग्रेन, अर्थराईटिस और मोटापा रोकने में भी लाल मिर्च बेहद फायदेमंद है। इसके अलावा लोगों में गैस्ट्रिक संबंधी परेशानियों से लड़ने के लिए भी लाल मिर्च को असरदार माना गया है। इसमें मौजूद तत्व कैपसेसिन लिवर कैंसर से लड़ने में कारगर साबित हुआ है।

यह भी पढे –

अगर बैठे-बैठे आपके भी हाथ-पैर हो जाते है सुन्न तो अवश्य पढ़ें यह खबर