बढ़ गया है पारा, योग के जरिए रखें खुद को ठंडा

इन दिनों गर्मी का प्रचंड रूप देखने को मिल रहा है। ऐसे में व्यक्ति को समझ ही नहीं आता कि वह खुद को ठंडा कैसे रखें। कूलर हो या एसी सभी फेल हैं। वैसे भी यह उपकरण कुछ देर के लिए आपको भले ही ठंडक पहुंचा दें लेकिन इससे शरीर के भीतर का तापमान कम नहीं होता। ऐसे मे आप योगा का सहारा ले सकते हैं। तो चलिए आज हम आपको एक ऐसे अद्भुत योगासन के बारे में बताते हैं, जो आपको बाहर से नहीं, बल्कि भीतर से ठंडक प्रदान करता है-

शीतली प्रणायाम

गर्मी के दिनों में शीतली प्रणायाम से बेहतर शायद ही दूसरा कोई योगासन हो। यह शरीर के तापमान को बनाए रखता है। इसका अभ्यास करने के लिए सर्व प्रथम रीढ़ को सीधा रखते हुए किसी भी आसन में बैठ जाएं। फिर जीभ को बाहर निकालकर उसे इस प्रकार मोड़े ही वह एक ट्यूब या नली के आकार जैसी बन जाए। फिर इस नली के माध्यम से ही धीरे−धीरे मुंह से सांस लें। हवा नलीनुमा इस ट्यूब से गुजरकर मुंह, तालु और कंठ को ठंडक प्रदान करेगी। इसके बाद जीभ अंदर करके सांस को धीरे−धीरे नाक के द्वारा बाहर निकालें। इस प्राणायाम का अभ्यास दस बार कर सकते हैं। प्राणायाम का अभ्यास होने के बाद गर्मी के मौसम में इसकी अवधि आवश्यकता अनुसार बढ़ा सकते हैं।