राष्ट्रीय लोक अदालत की एतिहासिक सफलता: एक ही दिन में 49,898 प्रकरणों का हुआ निस्तारण

राजस्थान उच्च न्यायालय के प्रशासनिक न्यायाधीश संगीत लोढ़ा एवं कार्यकारी अध्यक्ष, राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशन में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं प्रदेश के जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों के अध्यक्ष व सचिव तथा अधीनस्थ न्यायालयों के पीठासीन अधिकारियाें के सहयोग से शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया।

आम जनता को शीघ्र व सुलभ न्याय दिलाने हेतु आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत को लेकर जनता में भारी उत्साह देखा गया। इनमे 49 हजार 898 प्रकरणों का राज्य भर में निस्तारण हुआ तथा 3,399,477,026 रुपए की राशि के अवार्ड पीड़ित तथा परिवादी के पक्ष में पारित किये गये।

प्राधिकरण के सदस्य सचिव श्री ब्रजेन्द्र कुमार जैन ने बताया कि प्रकरणों की सुनवाई हेतु अधीनस्थ न्यायालयों की कुल 640 बैंचों का गठन किया गया, जिनके द्वारा प्रकरणों की ऑनलाइन व ऑफलाइन माध्यमों से सुनवायी की गई।

बैंचों में 78047 प्रकरण प्री-लिटिगेशन के तथा 1,38,931 प्रकरण न्यायालय में लम्बित सुनवाई के रखे गए थे। इनमें प्रि-लिटिगेशन के 10394 प्रकरणों एवं न्यायालयों में लंबित 39504 प्रकरणों को निपटाया गया।