Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / बच्चों में भी हो सकती है टाइप 1 डायबिटीज, जानिए क्या होते हैं इसके लक्षण ?

बच्चों में भी हो सकती है टाइप 1 डायबिटीज, जानिए क्या होते हैं इसके लक्षण ?

डाइबिटीज़ एक गंभीर समस्या है। यह बड़ों से लेकर बच्चों में भी हो सकती है। आप आश्चर्य कर रहे होंगे कि बच्चों में कैसे? इस बात की जानकारी आज हम आपको इस लेख के जरिये देंगे। डायबिटीज़ की समस्या ख़राब लाइफस्टाइल अपनाने के कारण अक्सर बच्चों में देखने को मिलती है। यह एक तरह ही अनुवांशिक बीमारी भी है जो पेरेंट्स से बच्चों में आ जाती है। छोटे बच्चों में अधिकांश तौर पर टाइप 1 डायबिटीज पाई जाती है, जिसे जुवेनाइल डायबिटीज नाम से भी जाना जाता है।

क्या होते हैं टाइप 1 डायबिटीज के लक्षण?

Loading...

अकसर देखा जाता है कि बच्चे बहुत जल्दी-जल्दी डाइपर गीला कर देते हैं और बच्चे की पर्याप्त मात्रा में पानी पीने के बाद भी प्यास बुझती नहीं है। ऐसे में यह लक्षण टाइप 1 डायबिटीज़ के हो सकते हैं। इसके अलावा ज्यादा थकान महसूस करना, वजन में कमी आना, आंखों से धुंधला दिखाई देना और सांस से बदबू आना भी टाइप 1 डायबिटीज़ के ही लक्षण हैं।

कैसे पाएं इससे छुटकारा ?

फिज़िकल एक्सरसाइज़ जरूरी

फिट रहने के लिए जरूरी है कि बच्चा स्पोर्ट्स में भाग ले और फिज़िकिल एक्सरसाइज़ को अपनाए। घर बैठकर टीवी देखने और मोबाइल पर गेम खेलने से बच्चे का शारीरिक विकास नहीं हो पाता है और बच्चा बीमारियों का शिकार हो सकता है। ऐसे में गेम्स में भाग लेने में प्रोत्साहित करें।

वजन पर काबू पाएं

बच्चों के वजन को कंट्रोल में रखना माता-पिता की जिम्मेवारी होती है। मोटापे से ग्रस्त बच्चा बीमारियों का शिकार हो सकता है। ज्यादा वजन की वजह से शरीर इंसुलिन का ठीक से इस्तेमाल नहीं कर पाता है, जिस कारण टाइप 2 डायबिटीज की समस्या हो सकती है। ऐसे में बच्चों के मोटापे को कण्ट्रोल में रखना पेरेंट्स के लिए जरूरी होता है।

मीठे का कम सेवन करें

अधिकतर बच्चे मीठ खाने के शौक़ीन होते हैं। चॉकलेट, टॉफी, मिठाई आदि का सेवन करना बच्चों को बेहद पसंद होता है। मार्केट में मिलने वाली आधी से ज्यादा चीज़ों में शुगर की काफी मात्रा पाई जाती है। ऐसे में उन्हें मीठा खाने से रोकें।

यह भी पढ़ें :  सोते समय टपकती है मुंह से लार, तो आज ही अपनाएं ये सभी घरेलू इलाज

चाहते हैं दांतो के पीलेपन से छुटकारा, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *