मुर्दाघर में सुशांत के शव के पास कैसे पहुंची रिया, अस्पताल प्रशासन ने दिया जवाब

सुशांत की मौत के मामले में रिया की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। चार दिनों में CBI रिया से करीब 35 घंटे पूछताछ कर चुकी है। इसी बीच कई नए खुलासे भी हुए है। एक इंटरव्यू में रिया ने स्वीकार किया था कि 15 जून को वह मुर्दाघर में सुशांत का शव देखने गई थीं। जिसके बाद सुशांत का पोस्टमार्टम करने वाले कूपर अस्पताल पर सवाल खड़े हुए और महाराष्ट्र राज्य मानवाधिकार आयोग ने 26 अगस्त को अस्पताल को कारण बताओ नोटिस थमा दिया।

सोमवार को महाराष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने कूपर अस्पताल के डीन और एचओडी से रिया के मुर्दाघर में जाने को लेकर पूछताछ की है। डीन पिनाकिन गुज्जर अपने वकील जयस्री के साथ महाराष्ट्र राज्य आयोग के कार्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने कहा कि अस्पताल को इस बारे में किसी प्रकार की जानकारी नहीं है है कि रिया 15 जून को मुर्दाघर गई थीं। गुज्जर ने बताया कि अस्पताल ने रिया को शवगृह में जाने के लिए इजाजत नहीं दी थी,वह कैसे पहुंची, पता नहीं।

आयोग के अध्यक्ष एमए सईद ने इस मामले में डीन से 7 सितंबर तक लिखित में जवाब देने के लिए कहा है। हालांकि आयोग, डीन के जवाब से संतुष्ट नहीं है। कूपर अस्पताल के डीन पिनाकिन गुज्जर ने आयोग के सामने इस पूरी घटना से पल्ला झाड़ते हुए मुंबई पुलिस पर रिया के मुर्दाघर में जाने की जिम्मेदारी डाल दी है। कहा जा रहा है कि रिया शवगृह में करीब 45 मिनट रुकी थी लेकिन रिया का कहना था कि वह वहां सिर्फ तीन- चार सेकेंड्स ही रुकी थी।

यह भी पढ़े: प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने बालिका गृह कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के आवास पर चिपकाया नोटिस
यह भी पढ़े: बेगूसराय पुलिस की बड़ी कामयाबी, ज्वैलरी दुकान लूट मामले का मास्टरमाइंड समेत 11 गिरफ़्तार