गर्भावस्था में उल्टियों से ऐसे निपटें

सभी महिलाओं को गर्भावस्था में उल्ट‍ियां होना एक बहुत ही स्वभाविक बात है। क्योकि उल्टी होना गर्भावस्था के सबसे प्रारंभि‍क चरण की पहचान है। गर्भकाल के पहले तीसरे महीने में उल्टी होना, जी मिचलाना और मॉर्निंग सिकनेस होना बहुत ही आम बात है। अगर आपकी उल्टी पूरी तरह सामान्य है तो घबराने की कोई बात नहीं लेकिन अगर आपको बहुत अधिक उल्टी हो रही है तो तुरंत ही सतर्क हो जाइए। हालांकि आप चाहें तो इन घरेलू उपायों को भी अवश्य ही आजमा सकती हैं।

एक ग्लास पानी – अगर आपको लगातार बखूबी उल्ट‍ियां हो रही हों तो रात के समय एक ग्लास पानी में काले चने भिंगोकर छोड़ दीजिए। सुबह उठकर ये पानी पी लें. ऐसा करने से बहुत फायदा होगा।

आंवले का मुरब्बा – उल्टी होने की स्थिति में आंवले का मुरब्बा खाना भी अत्यधिक फायदेमंद रहता है।

सूखा धनिया – गर्भावस्था के दौरान अगर आपको लगातार उल्टी हो रही हो और जी मिचला रहा हो तो सूखा धनिया या फिर हरे धनिए को पीसकर उसका अच्छी तरह मिश्रण बना लें। समय-समय पर ये मिश्रण गर्भवती को देते रहें। ऐसा करने से कुछ समय बाद उल्टी आनी पूरी तरह बंद हो जाएंगी। आप चाहें तो इसमें काला नमक भी अवश्य मिला सकती हैं।

जीरा, सेंधा नमक और नींबू – जीरा, सेंधा नमक और नींबू के रस को मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें। कुछ-कुछ देर में इसे चूसते रहें. ऐसा करने से उल्टी पूरी तरह काबू में आ जाएगी।

तुलसी के पत्ते – तुलसी के पत्ते के रस में शहद मिलाकर चाटने से भी बहुत अधिक फायदा होता है।