Breaking News
Home / रिलेशनशिप / इससे तो आपके बच्चे कमजोर हा जाएंगे

इससे तो आपके बच्चे कमजोर हा जाएंगे

पैरेंट्स को चाहिए कि वे बच्चों की हमेशा सही परवरिश करे। अगर उनकी परवरिश में जरा भी चूक हुई, तो यकीन मानिए आपके बच्चे में सैकड़ों खामिया पैदा हो सकती है। जाहिर है कोई पैरेंट्स नहीं चाहते कि उनका बच्चा किसी से पीछे रहे या फिर उसके अंदर हीन भावना घर करे। लेकिन इसके लिए आपको चाहिए कि अपनी पैरेंटिंग स्टाइल को जरा परखें। देखें कि कहीं आप भी यहां दिए गए बिंदुओं को अपनी पैरेंटिंग स्टाइल में दोहराती तो नहीं हैं। अगर हां, तो इन्हें बदल दें।

Loading...

तुलना करना
अकसर पैरेंट्स अपने बचचों की दूसरों के बच्चों से तुलना कर बैठते हैं। ऐसा करना सही नहंी है। बेहतर है कि उनकी तुलना दूसरे बच्चों से करना बंद कर दीजिये। तुलना होने पर बच्चों में हीन भावना आने लगती है और उनका मनोबल कमजोर होने लगता है इसलिए तुलना करने से बचिए।

मजाक उड़ाना
कभी-कभी बच्चे कुछ ऐसी कोशिशें या प्रयोग कर बैठते हैं जो बाद में हंसी का पात्र बन जाती है। लेकिन आपको उन पर हंसना नहीं है। इसके बजाय उन्हें और बेहतर करने के लिए प्रेरित करना है। अगर आप बिना सोचे-समझे बच्चों का मजाक उड़ाएंे तो इसके साइड इफेक्ट्स भी आपको ही झेलने पड़ेंगे। असल में बच्चे वही करते हैं जो वो देखते हैं। जब हम उनका मजाक उड़ाते हैं तो वो भी ऐसा करने के लिए प्रेरित होते हैं जिसकी वजह से उनमें एक बुरी आदत विकसित हो जाती है। इतना ही नहीं, मजाक उड़ने की स्थिति में बच्चे हताश भी हो सकते हैं इसलिए ऐसी भूल ना करें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *