कब्ज और पथरी की समस्या से ऐसे करें खुद का बचाव

हमारे आसपास पाया जाने वाला बथुआ कई सारे औषधीय गुणों से भरपूर होता है। डाक्टरों की माने तो बथुआ को खाने में किसी न किसी रूप में शामिल अवश्य ही करना चाहिए। यह स्वास्थ्य के लिए अत्यधिक फायदेमंद होता है। इसमें आयरन बहुत ही प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसके साग को नियमित खाने से कई रोगों को पूरी तरह जड़ से समाप्त किया जा सकता है। इससे गुर्दे में पथरी होने का खतरा बहुत अधिक कम हो जाता है। तो आइए आज हम आपको बथुआ के गुणों के बारे में बताते हैं…….

– कच्चे बथुआ के एक कप रस में थोड़ा सा नमक मिलाकर रोजाना लेने से पेट के कीड़े मर जाते हैं।

– गुर्दा, मूत्राशय और पेशाब के रोगों में बथुआ का रस पीने से अत्यधिक लाभ मिलता है।

– आपके सिर में अगर जुएं हों तो बथुआ को उबालकर इसके पानी से सिर धोएं। जुएं मर जाएंगे और सिर भी पूरी तरह साफ हो जाएगा।

– सफेद दाग, दाद, खुजली फोड़े और चर्म रोगों में बथुआ को रोजाना उबालकर इसका रस पीना चाहिए।

– अगर आप कब्ज के रोगी है तो आपको इसका नियमित रूप से सेवन करना चाहिए। कुछ हफ्तों तक नियमित रूप से खाने से कब्ज की गंभीर समस्या आसानी से समाप्त हो जाती है।

यह भी पढ़ें:

एल्युमिनियम फॉयल में पैक खाना बनता है इन गंभीर बीमारियों का कारण!

कमर दर्द से हैं परेशान, तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे