Breaking News
Home / लाइफस्टाइल / तो ये हैं आपके स्वार्थी दोस्त

तो ये हैं आपके स्वार्थी दोस्त

आज की तारीख में मतलबी होना या स्वार्थी होना बुरा नहीं है। आखिर काॅम्पीटीशन का जमाना है। हर कोई एक-दूसरे को पछाड़ने में लगा है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि अपने स्वार्थ में दूसरों को ठगा जाए। अगर आपका स्वार्थ अपने हित तक सीमित है, तब तक ठीक है। अगर आपका स्वार्थ दूसरों को अहित करता हो, तो बेहतर है आप संभल जाएं। क्योंकि ऐसे लोगों से अकसर जान-पहचान वाले दूरी बना लेते हैं। अगर आप भी जानना चाहते हैं कि आपके पास ऐसे कौन लोग हैं जो स्वार्थी और आपका इस्तेमाल कर सकते हैं, तो इसके लिए इस लेख को आगे पढ़ें।

Loading...

-ऐसा कोई भी शख्स स्वार्थी हो सकता है जो आपके साथ नौकरी करता है, साथ में घर में रहता हो, रोजाना बस में मिलता हो, रोजना रास्ते में मुलाकात होती हो। सब्जी वाला, दूध वाला, प्रेस वाला, पड़ोस का कोई शख्स। ऐसे में जरूरी है कि सबको परखने की कला को विकसित करें।

-रोजाना तरह-तरह के लोगों से मुलाकात होती है, कुछ अपने होते हैं जैसे कि माता-पिता या घर परिवार के ही लोग। कुछ को अपना बना लेते हैं जैसे कि दोस्त या प्रेमी या प्रेमिका। इन लोगों के गतिविधियों और जरूरतों पर नजर रखें।

-अगर कोई बार-बार आपसे मदद मांगता है, तो वह स्वार्थी हो सकता है।

-अगर कोई बार-बार आपसे उधार मांगता है लेकिन पैसे लौटाता नहीं हे, तो वह स्वार्थी है।

-अगर आॅफिस में कोई बार-बार आपके आइडियाज सुनना चाहता है, लेकिन अपने नहीं बताता तो वह स्वार्थी है।

-अगर कोई आपसे आपके मन की बात तो जान लेता है लेकिन अपनी बातें बताने में आनाकानी करता है, तो यह भी स्वार्थी होना ही कहलाता है।
बेहतर है कि आप इस तरह के लोगों से दूरी बना लें। वरना एक दिन बुरी तरह पछताना पड़ सकता है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *