ऐसे कीजिए ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम, अपनाइये सुरक्षा के ये टिप्स

वैसे तो इंसानी जिस्म का हर एक हिस्सा ही अपने आप में कुदरत का बनाया गया शाहकार है खुदा ने उसकी तख़लीक़ और उसका निर्माण किसी एक ख़ास मकसद के तहत ही किया है लेकिन उनमें से कुछ ऐसे भी है जो बहुत ही ज्यादा अहमियत के हामिल है और स्त्रियों में एक नाम उनके ब्रेस्ट का भी है ।

वैसे तो हमारे समाज में तमाम तरह की कुरीतियां और बुराइयां मौजूद है । वो इल्लीगल सम्बन्ध भी बनाएंगे लेकिन जब बात फिटनेस की और जिस्म के मुख्तलिफ हिस्सों की हिफाज़त की आयेगी तो वो इन पर बात करना भी मुनासिब नहीं समझेंगे क्योंकि बकौल उनके ये अश्लीलता है हालाँकि ये जिंदगी की बुनियादी चीजें है जिसका हर स्त्री और पुरूष से वाकिफ होना बहुत जरूरी है तो आइये जानते है कि स्त्रियां किन तरीकों से अपने ब्रेस्ट को कैंसर और दीगर अमराज से बचाने में कुछ हद तक कामियाब हो सकती है ।

साइज

अगर आप स्त्री है तो आपको अपने जिस्म के इन पार्ट्स की बनावट पर भी काफी ध्यान देना होगा । आप अकेले में उनकी बनावट का जायजा ले सकती है कि इनकी बनावट दुरुस्त है या नहीं या कहीं ऐसा तो नहीं कि ये एक दूसरे से छोटे हो जिनकी वजह से कोई गम्भीर बीमारी पनप रही हो।

कैंसर

हाल ही में हुए रिसर्च बताते है कि स्त्रियां अगर अपने इन पार्ट का समय समय पर अवलोकन करती रहें तो वो ब्रेस्ट कैंसर जैसी बीमारियों से निजात पा सकती है । अगर आपको अपने इस हिस्से में किसी तरह की गाँठ नजर आ रही है तो शर्माएं नही अपने पैरेंट्स को बताएं क्योंकि वक़्त रहते अगर इनका इलाज किया जाये तो इससे निजात संभंव है ।

अहम बात

एक स्त्री के रूप में अपने जिस्म को सुरक्षित बनाये रखने की और भी जिम्मेदारियां है । आम तौर पर देखा गया है कि बच्चे की पैदाइश के बाद स्त्रियां अपनी बच्चे को दूध पिलाने से बचती रहती हैं या फिर कुछ ही दिनों बाद उसे बंद कर देती है जोकि उस बच्चे के अलावा खुद के साथ भी जुल्म होता है । छातियों से दूध का न निकलना और उसका बच्चे के जिस्म मे न पहुंचना भी तमाम तरह की बीमारियों को जन्म देता है और ये भविष्य में बच्चे की सेहत के लिए भी हानिकारक साबित होता है ।