शरीर में जमी गंदगी कैसे निकालें, जानें 3 आसान तरीके

Detox Your Body: कई वर्षों से खा रहे खाने से निकला विषाक्त पदार्थ हमारे शरीर के वजन को तेजी से बढ़ाता है. जरा सा काम करने पर जल्दी थकान होने लगती है. सांस फूलने की भी समस्या होने लगती है. अगर आप भी इन समस्याओं का सामना लम्बे समय से कर रहे हैं तो आइए जानते हैं कुछ ऐसी टिप्स के बारे में जिससे वजन कम करने में आसानी होगी.

Health Tips: बचपन से ही हमें पौष्टिक भोजन लेने को कहा जाता है. लेकिन ये हमेशा मुमकिन नहीं हो पाता. कई लोग बढ़ती उम्र के साथ घर का पौष्टिक भोजन छोड़ कर बाहर का खाना पसंद करते हैं. लम्बे समय तक जरूरत से ज्यादा भोजन करते रहने से आपकी आंतों और लिवर को नुकसान हो सकता है. ऐसा करने से शरीर में विषाक्त पदार्थ जमा होने लगता है, जिससे हमारा वजन तेजी से बढ़ना शुरू हो जाता है. ऐसे में आपको घबराने की जरूरत नहीं है, आइए जानते हैं शरीर के विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालकर कैसे वजन कम किया जा सकता है.

सप्ताह में एक उपवास करें
जिस तरह हम रोजाना जिम जाते हैं और सप्ताह में एक दिन शरीर को पूरा आराम देते हैं, उसी तरह लिवर, आंत को भी आराम की जरूरत होती है. जब आप रोजाना भोजन करते हैं तो ये सब काम में लग जाते हैं और अगर हम उपवास नहीं करेंगे तो हमारे अंगों को आराम नहीं मिलेगा जिससे पेट में जमा गन्दगी बाहर नहीं निकलेगी और वजन का बढ़ना कभी बंद नहीं होगा. साथ ही आप अन्य बीमारियों से भी घिर सकते हैं.

डेटॉक्स जूस का सेवन करें
जब हम किसी घर का निर्माण करते हैं तो वो बढ़ते समय के साथ पुराना होने लगता है और दीवारों पर ढेर सारी गंदगी जमा होने लगती है. उसी तरह हमारा शरीर है. हमेशा खाते रहने से इंटेस्टाइन, लिवर और आंत में गन्दगी जमा होने लगती है और हमारा वजन तेजी से बढ़ना शुरू हो जाता है. इनके अंदर जमा विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिए आपको डेटॉक्स जूस का सेवन करना चाहिए.

फ्रूट्स का सेवन करें
आज कल के खान-पान के साथ शरीर को बेहतर बनाने के लिए हमें सप्ताह में एक दिन ऐसा निकालना पड़ेगा, जिस दिन हम शरीर के अंगों को साफ करने के लिए मौसमी फल का इस्तेमाल करें. जब आप दफ्तर या कहीं बाहर जा रहे हों तो कच्चे नारियल को स्नैक्स के रूप में शामिल कर सकते हैं. साथ ही मौसमी फलों को भी अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं.

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए बारिश के मौसम में इन सब्जियों से कर लें तौबा-तौबा