Breaking News
Home / ट्रेंडिंग / अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए मुद्रा लोन के तहत लोन कैसे ले
Pradhanmantri Mudra Loan Yojna
Navyugsandesh.com

अपना खुद का बिजनेस शुरू करने के लिए मुद्रा लोन के तहत लोन कैसे ले

प्रधानमंत्री मोदी जी की सरकार भारत में ‘स्टार्टअप इंडिया मिशन’ को बढ़ावा दे रही है। जिसके तहत स्टार्टअप प्लान करने वाले व्यापारियों को मुद्रा लोन प्रदान किया जाता है। युवाओं में व्यापार के आइडिया को प्रोत्साहित करते हुए व्यापार को बढ़ावा देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गई है। पहले मुद्रा लोन 10 लाख रुपए तक दिया जाता था, अब इसे बढ़ाकर 20 लाख रुपए तक कर दिया गया है।

अप्रैल 2015 में प्रधानमंत्री मुद्रा मुद्रा लोन योजना PMMY की शुरुआत की गई। जिसके अंतर्गत देश में सभी प्रकार के व्यापारी छोटे या बड़े हर किसी को फाइनैंशियल जरूरत को पूरा करने के लिए या खास तौर पर किसी बिजनेस की शुरुआत करने के लिए मुद्रा लोन दिया जाता है। इस लोन के तहत महिलाओं को व्यापार शुरू करने के लिए लोन देने में प्राथमिकता तय की गई है।

Loading...

अगर आपके पास भी के स्टार्टअप बिजनेस प्लान है। आप भी अपना खुद का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं। तो आप माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट रीफाइनेंस एजेंसी या मुद्रा लोन के तहत आसानी से 20 लाख तक का लोन लेकर अपना व्यापार शुरू कर सकते है।

मुद्रा लोन योजना के फायदेः

1. इस स्कीम के तहत अब बिना किसी गारंटी के लोन प्राप्त कर सकते हैं।

2. लोन प्राप्त करने के लिए किसी भी तरह की प्रोसेसिंग फीस आपसे नहीं ली जाती है।

3. इस लोन के रीपेमेंट पीरियड को आप चाहे तो 5 वर्ष तक बढ़ा सकते हैं।

4. इस लोन के तहत आपको मुद्रा कार्ड दिया जाता है। जिसके जरिए आप जब चाहे आसानी से अपनी जरूरत के हिसाब से पैसे निकाल सकते है।

मुद्रा लोन प्राप्त करने के लिए एलिजिबिलिटी (योग्यता)

कोई भी भारतीय व्यक्ति या भारतीय फार्म जो किसी भी व्यापार को शुरू करना चाहता है या पहले से स्थापित व्यापार को बढ़ाना चाहता है। वह मुद्रा लोन के लिए अप्लाई कर सकता है। सिर्फ खेती के लिए मुद्रा लोन के जरिए लोन प्राप्त नहीं किया जा सकता, क्योंकि खेती के लिए भारत सरकार द्वारा पहले से ही के. सी. सी. योजना चलाई जाती है।

मुद्रा लोन के तीन प्रकारः

मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन अलग-अलग व्यवसाय को ध्यान में रखकर तीन तरह से दिया जाता है

1. शिशु ऋण- 50000 रुपये तक।
2. किशोर ऋण-50000 से 5 लाख रुपये तक।
3. तरुण ऋण -5 लाख से 20 लाख रुपये तक।

अगर आप शिशु ऋण या किशोर ऋण के लिए अप्लाई करते हैं, तो यह ऋण आपको बहुत जल्दी मिल ही जाता है।

मुद्रा योजना के तहत ब्याज दरः

मुद्रा लोन की ब्याज दर सरकार के द्वारा 12% तय की गई है, लेकिन अलग-अलग बैंक की प्रणाली और आवेदकों की बिजनेस रिस्क को ध्यान में रखते हुए यह ब्याज दर अलग-अलग हो सकती है। इसे देयकर्ता बैंक के द्वारा ही ज्ञात किया जा सकता है।

मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन प्राप्त करने की प्रक्रियाः

सरकार द्वारा मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन प्राप्त करने के लिए कोई निश्चित प्रक्रिया तय नहीं की गई है। इसके लिए पहले आपको उन बैंकों की जानकारी प्राप्त करनी होगी जो मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन आपको प्रदान कर सकते हैं।  सरकार के लिस्ट में 27 पब्लिक बैंकों, 17 निजी बैंक,  31 ग्रामीण क्षेत्रीय बैंक, 4 सहकारी बैंक और 36 माइक्रोफाइनेंस संस्थान, 25 गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थानों को मुद्रा लोन योजना के तहत मुद्रा लोन प्रदान करने के लिए नियुक्त किया गया है।  आपको इन बैंकों की जानकारी जुटाकर अपने आस-पास के बैंक से संपर्क करके मुद्रा लोन एप्लीकेशन फॉर्म भरकर कुछ जरूरी दस्तावेजों के साथ सबमिट करना होता है।

मुद्रा लोन के लिए डॉक्यूमेंट कैसे तैयार करें करे

इस योजना के तहत लोन प्राप्त करने के लिए आपको पिछले 2 वर्ष की बैलेंस शीट, इनकम टैक्स रिटर्न, के पेपर वर्तमान व्यवसाय के लिए पूरा बिजनेस प्लान और उसकी जानकारी जुटाने होगी। अगर आप एक नया व्यवसाय नये सिरे से शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको प्रोजेक्ट रिपोर्ट, फ्यूचर इनकम एस्टिमेट्स, बिजनेस प्लान इत्यादि तैयार करना होगा।

इन सारी जानकारियों के आधार पर बैंक आपके बिजनेस से जुड़े रिस्क पर खुद की रिसर्च करेगा और इसी के आधार पर आपका लोन तय किया जाता है।

आवश्यक दस्तावेजः

पहचान पत्र।
निवास प्रमाण पत्र।
बिजनेस प्लान या प्रोजेक्ट रिपोर्ट।
बिजनेस इंटरप्राइजेज के लिए एड्रेस।
पिछले 6 वर्ष का बैंक स्टेटमेंट।
बैलेंस शीट पिछले 2 वर्षों का।
पार्टनरशिप फर्म के लिए प्रूफ।
ST, SC, OBC माइनॉरिटी के लिए जरूरी दस्तावेज।
सही तरह से भरा हुआ मुद्रा लोन एप्लीकेशन फॉर्म।

मुद्रा लोन एप्लीकेशन फॉर्म आप ऑफलाइन बैंक से भी प्राप्त कर सकते हैं या चाहे तो ऑनलाइन भी इसे मुद्रा लोन योजना की वेबसाइट के जरिए डाउनलोड किया जा सकता है।

लोन प्रोसेसिंगः

पूरी तरह से डॉक्यूमेंट जमा होने के बाद बैंक आपके द्वारा जमा की गई डॉक्यूमेंट की जांच करेगा। आपके प्रोजेक्ट रिपोर्ट और बिजनेस प्लान रिपोर्ट पर विचार विमर्श किया जाएगा। अगर आपके प्रोजेक्ट रिपोर्ट या प्लान में रिस्क कम दिखाई देता है और उन्हें किसी भी तरह का कोई संदेह ना हो तो आपका लोन आपको 30 दिन के अंदर ही प्राप्त हो जाएगा।

मुद्रा लोन रिजेक्शन के कारणः

आपके पास पूरे दस्तावेज उपलब्ध ना हो। प्रोजेक्ट रिपोर्ट रिपोर्ट पर बैंक को रिस्क दिखाई दे। लाभ होने की संभावना बहुत कम हो। आवेदक ने पहले से कोई लोन लिया हो जिसे पूरी तरह से चुकाया ना गया हो इत्यादि।

मुद्रा कार्डः

मुद्रा लोन कार्ड बिल्कुल डेबिट कार्ड की तरह होता है। जब आपका मुद्रा लोन मान्य हो जाता है। आपके अकाउंट में पैसे आ जाते हैं। तब आपको उस पैसे को निकालने के लिए मुद्रा कार्ड दिया जाता है। बिजनेस में रोजमर्रा में होने वाले खर्च को ध्यान में रखकर मुद्रा कार्ड को बनाया गया है।

यह भी देखें:

रोजाना सिर्फ ₹50 म्यूचुअल फंड में जमा कर बनाए 10 लाख

खुद की बुक पब्लिशिंग हाउस शुरू कर हर माह लाखो कमाये, ये है पूरा प्रोसेस

इवेंट मैनेजमेंट का बिजनेस शुरू कर लाखों कमाये, जानिए पूरा बिजनेस प्लान

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *